--Advertisement--

मुंबई में पहली बार RSS से जुड़े संगठन की इफ्तार पार्टी, 30 देशों के राजदूत होंगे शामिल

इसमें 30 मुस्लिम बहुल देशों के महावाणिज्य दूतों के अलावा मुस्लिम समुदाय के 200 से ज्यादा गणमान्य लोगों को बुलाया जाएग।

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 05:18 PM IST
पहली बार मुंबई में इस तरह की किसी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है। पहली बार मुंबई में इस तरह की किसी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है।

मुंबई. राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस)से जुड़े मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच ने रमजान के पवित्र महीने में मुंबई में एक बड़ी इफ्तार पार्टी का आयोजन करने जा रही है। जानकारी के मुताबिक यह इफ्तार पार्टी 4 जून को आयोजित की जाएगी। बता दें कि इससे पहले भी आरएसएस की ओर से इफ्तार पार्टी का आयोजन होता रहा है। यह पहली बार है जब आरएसएस से जुड़ा संगठन मुंबई में इस तरह की इफ्तार पार्टी का आयोजन कर रहा है।

30 देशों के राजदूत होंगे शामिल

- मुस्लिम राष्‍ट्रीय मंच के राष्‍ट्रीय संयोजक विराग पचपोरे के मुताबिक इस इफ्तार पार्टी में तकरीबन 30 मुस्लिम बहुल देशों के महावाणिज्य दूतों के अलावा मुस्लिम समुदाय के 200 से ज्यादा गणमान्य लोगों को भी बुलाया जाएगा।
- विराग पचपोरे ने कहा, "आरएसएस किसी समुदाय के खिलाफ नहीं है। हकीकत तो यह है कि आरएसएस देश के सभी समुदायों के बीच शांति, सद्भाव और भाईचारे की भावना को बढ़ाना चाहता है।"
- मुंबई के सहयाद्री गेस्‍ट हाउस में इसका आयोजन किया जाएगा। चर्चा यह भी है की बीजेपी के सभी बड़े मुस्लिम चेहरे इसमें शामिल होंगे।

पहले से आरएसएस आयोजित करता रहा है ऐसी पार्टीज
- बता दें कि आरएसएस ने मुस्लिम समुदाय तक अपनी पहुंच बनाने के लिए वर्ष 2015 में ऐसे आयोजनों की शुरुआत की थी। हालांकि, अब तक मुस्लिम समुदाय से जुड़े आरएसएस के ऐसे आयोजन केवल उत्तर भारत तक ही सीमित थे।
- प्रधानमंत्री आवास में ऐसी पार्टियों आयोजित न करने के पीएम नरेंद्र मोदी के फैसले के ठीक बाद यह कदम उठाया गया था।

इसलिए मुंबई में हो रहा आयोजन
- आरएसएस जानकारों के मुताबिक, मुंबई में इफ्तार आयोजित करने के पीछे आरएसएस का मकसद देश के पश्चिमी और दक्षिणी हिस्सों के मुस्लिम समुदाय तक अपनी पहुंच बनाना है।

- पचपोरे ने बताया कि मुंबई भारत की आर्थिक राजधानी है और यहां बहुत से देशों के वाणिज्यिक दूतावास हैं। मुंबई में बहुत से मुस्लिम कारोबारी रहते हैं, जिन्होंने देश की तरक्की में योगदान दिया है। साथ ही फिल्‍म और मनोरंजन जगत में सक्रिय मुस्लिम समुदाय से जुड़ी कई हस्तियां भी यहां रहती हैं।

- उनके मुताबिक, इफ्तार के माध्यम से संघ ऐसे सभी लोगों से बातचीत और संवाद करना चाहता है। उन्‍होंने बताया कि इफ्तार के आयोजन का मकसद अल्पसंख्यक समाज के बीच आरएसएस के बारे में फैलाई गई भ्रांतियों को खत्म करना है।

इस इफ्तार  पार्टी में 30 देशों के राजनयिक दूत शामिल होंगे। इस इफ्तार पार्टी में 30 देशों के राजनयिक दूत शामिल होंगे।
X
पहली बार मुंबई में इस तरह की किसी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है।पहली बार मुंबई में इस तरह की किसी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है।
इस इफ्तार  पार्टी में 30 देशों के राजनयिक दूत शामिल होंगे।इस इफ्तार पार्टी में 30 देशों के राजनयिक दूत शामिल होंगे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..