न्यूज़

--Advertisement--

मुंबई: आरपीएफ जवान की सतकर्ता से बची तीन महिलाओं की जान

आरपीएफ के सनीयर अधिकारी सतीश मेनन के मुताबिक, ट्रेन के नीचे आने से बची तीनों महिलाओं को मामूली चोट आई है।

Danik Bhaskar

Jun 20, 2018, 06:33 PM IST

मुंबई. दादर स्टेशन पर तैनात एक आरपीएफ जवान की सतर्कता से एक नहीं बल्कि तीन महिलाएं दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। भीड़ अधिक होने के कारण ये तीनों ट्रेन में चढ़ नहीं पाई और धक्के से नीचे गिर पड़ी। इतने में ट्रेन चल पड़ी, इससे पहले की ये घसीटते हुए प्लेटफॉर्म और ट्रेन के गैप में फंस जाती मौके पर मौजूद आरपीएफ जवान ने फुर्ती दिखाते हुए युवती को बचा लिया।

ऐसे बची तीनों महिलाओं की जान
- मंगलवार को मध्य रेलवे के दादर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 4 पर आरपीएफ जवान राहुल जाधव तैनात थे। सुबह के समय कर्जत जाने वाली लोकल ट्रेन स्टेशन पर आने वाली थी। उसी ट्रेन से कल्याण जाने के लिए गायत्री सतनकर (20) अपनी 15 साल की बहन और एक महिला के साथ ट्रेन का इंतजार कर रही थी। जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर आई भीड़ ट्रेन में चढ़ने के लिए एक दूसरे को धक्का देने लगी।
- ये तीनों भी ट्रेन में चढ़ने की कोशिश करने लगे, भीड़ अधिक होने के कारण गायत्री ट्रेन के दरवाजे पर लगे रॉड को पकड़ कर किसी तरह से लटक गयी, गायत्री को पकड़ उनकी बहन और एक और महिला भी दरवाजे पर खड़े हो गए। इसी बीच जैसे ही ट्रेन चली गायत्री सतनकर अपना संतुलन संभाल नहीं पाई और नीचे गिर पड़ी। उसी के साथ गायत्री की बहन और वह महिला भी नीचे गिर पड़ी। इतने में वहां चीख पुकार मच गयी, मौके पर मौजूद आरपीएफ जवान राहुल जाधव तुरंत फुर्ती दिखाते हुए महिला को पकड़ कर पीछे खींच लिया। जाधव के साथ उनकी दो महिला सहयोगी वनिता शुक्ला और किरण जॉय ने भी जाधव की मदद करते हुए तीनो लोगों को पीछे खींच लिया, जिससे तीनो सही सलामत बच गए।


तीनों को आई मामूली चोट
- आरपीएफ के सनीयर अधिकारी सतीश मेनन के मुताबिक, ट्रेन के नीचे आने से बची तीनों महिलाओं को मामूली चोट आई है। तीनों का प्राथमिक उपचार स्टेशन पर ही किया गया।