--Advertisement--

अपना खर्च चलाने कभी बेचे सिमकार्ड, अब इंटरनेशनल ब्यूटी पेजेंट में एशिया को करेंगी रिप्रेजेंट

आर्थिक तंगी के चलते उन्हें एक प्राइवेट कंपनी के सिम कार्ड भी बेचने पड़े।

Danik Bhaskar | Jul 07, 2018, 03:14 PM IST
पुणे की रहने वाली श्रद्धा एक सफल इंटीरियर डिजाइनर हैं। पुणे की रहने वाली श्रद्धा एक सफल इंटीरियर डिजाइनर हैं।

पुणे. शहर की रहने वाली श्रद्धा कक्कड़ जमैका में 21 जुलाई से शुरू होने जा रहे 'मिसेज यूनाइटेड नेशन' कांटेस्ट में एशिया को रिप्रजेंट करेंगी। दिसंबर 2017 में श्रद्धा ने 'मिसेज एशिया यूनाइटेड नेशन' का खिताब अपने नाम किया है। एक सक्सेसफुल इंटीरियर डिजाइनर के तौर काम करने वाली श्रद्धा का मिसेज 'मिसेज यूनाइटेड नेशन' तक पहुंचने का सफर बेहद संघर्षपूर्ण रहा है। आर्थिक तंगी के चलते उन्हें सिर्फ 16 साल की उम्र में काम करना पड़ा। उस दौरान उन्होंने एक प्राइवेट कंपनी के सिम कार्ड भी बेचे।

पढ़ाई का खर्च उठाने बेचे सिमकार्ड
- महाराष्ट्र के नासिक की एक संपन्न बिजनेस फैमिली में पैदा हुई श्रद्धा की स्कूलिंग भी इसी शहर में हुई। पिता मोहन कसार एक नामी बिजनेसमैन थे। उनका प्लास्टिक मोल्डिंग का बड़ा कारोबार था। इसलिए शुरुआती दौर में पैसों की कमी श्रद्धा की पढ़ाई में रोड़ा नहीं बनी। लेकिन जब श्रद्धा 10वीं क्लास में पढ़ रही थी उसी दौरान पिता को बिजनेस में बड़ा घाटा हुआ और नौबत दिवालिया होने तक आ गई। इसके बाद पूरा परिवार आर्थिक तंगी से जूझने लगा। परिवार को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए और पढ़ाई का खर्च खुद उठाने के लिए सिर्फ 16 साल की उम्र में श्रद्धा ने घूम-घूम कर सिमकार्ड तक बेचे।

दिन में पढ़ाई और शाम को बैंक में किया काम
- दैनिक भास्कर से बात करते हुए श्रद्धा ने बताया,"परिवार के हाल को देखते हुए मैंने पढ़ाई का खर्च खुद उठाने का फैसला किया। मैं पुणे आ गई और सिंहगढ़ इंस्टिट्यूट में इंटीरियर डिजाइनिंग के कोर्स में दाखिला लिया। मैं दिन में पढ़ाई करती और शाम को आईसीआईसीआई बैंक के लोन डिपार्टमेंट में काम करती थी। उस दौर में पैसे बहुत कम मिलते थे और किसी तरह से मेरा गुजारा हो पाता था।"

ऐसे फैशन इंडस्ट्री से जुड़ी श्रद्धा
- पुणे में पढ़ाई के दौरान श्रद्धा ने साल 2005 में 'मिस पुणे' कांटेस्ट में हिस्सा लिया और फर्स्ट रनरअप चुनी गई। इसके बाद उन्हें मॉडलिंग के छोटे-छोटे असाइनमेंट और फिल्मों में रोल के ऑफर मिलने लगे।

एक बेटे की मां हैं श्रद्धा
- कॉमर्स ग्रैजुएट श्रद्धा ने इसके बाद अपनी खुद की इंटीरियर डिजाइनिंग की कंपनी शुरू की और कुछ ही दिनों में एक सक्सेसफुल बिजनेस खड़ा कर लिया। इसी दौरान उनकी मुलाकात पुणे के बिजनेसमैन देवन कक्कड़ से हुई और दोनों ने साल 2011 में शादी की। दोनों का आज तकरीबन साढ़े तीन साल का एक बेटा है। श्रद्धा घर और बाहर दोनों को बखूबी संभालती हैं। श्रद्धा ने बताया कि परिवार और हसबैंड के सपोर्ट की वजह से उन्होंने फैशन जगत से अपने नाता हमेशा से जोड़े रखा।

फिल्मों में एक्टिंग की है प्लानिंग
श्रद्धा एक क्लासिकल सिंगर भी हैं। उन्हें सिंगिंग के साथ-साथ घूमना बहुत पसंद है। वे फ्रांस, ग्रेस, थाईलैंड, दुबई, नेपाल, सिंगापुर की यात्रा कर चुकी हैं। जल्द ही उनकी प्लानिंग अमेरिका, लंदन और कुछ यूरोपीयन देशों में जाने की है। श्रद्धा को एक्टिंग का भी शौक है। उनके पास कुछ फिल्मों की स्क्रिप्ट भी आई है।

सामाजिक कार्यों में भी सक्रिय हैं श्रद्धा
- श्रद्धा सामजिक कार्य में भी सक्रिय हैं। वे पुणे के अनाथालयों और वृद्धाश्रमों में अक्सर अपना समय बिताने जाती रहती हैं।

श्रद्धा 'मिसेज एशिया यूनाइटेड नेशन' का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं। श्रद्धा 'मिसेज एशिया यूनाइटेड नेशन' का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं।
श्रद्धा 'मिसेज यूनाइटेड नेशन' कांटेस्ट में एशिया को रिप्रजेंट करेंगी। श्रद्धा 'मिसेज यूनाइटेड नेशन' कांटेस्ट में एशिया को रिप्रजेंट करेंगी।