--Advertisement--

शादी से पहले महिला तीरंदाज ने स्टेज पर लगे टारगेट को तीर धनुष से बनाया निशाना

स्वामिनी ने बताया कि शादी के दौरान तीरंदाजी के जौहर दिखाने का मकसद इस खेल के प्रति लोगों को जागरूक करना था।

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 04:18 PM IST
फेरे लेने से पहले महिला तीरंदा फेरे लेने से पहले महिला तीरंदा

अहमदनगर. मंगलवार को यहां हुई स्टेट लेवल की महिला आर्चर (तीरंदाजी प्लेयर) की शादी चर्चा में है। तीरंदाजी में माहिर स्वामिनी अनिल उनवणे ने अपनी शादी में फेरे से पहले लग्न मंडप के स्टेज पर रखे लक्ष्य को तीर और धनुष से निशाना बनाया। स्वामिनी ने बताया कि शादी के दौरान तीरंदाजी के जौहर दिखाने का मकसद इस खेल के प्रति लोगों को जागरूक करना था।

- अहमदनगर के श्रीरामपूर गांव के रिटायर तलाठी अनिल उनवणे की बेटी स्वामीनी की शादी मंगलवार को प्रसाद भांगे के साथ हुई। इस शादी में स्वामिनी ने अपनी तीरंदाजी के जौहर दिखा वहां मौजूद लोगों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। उन्होंने स्टेज पर लगे टारगेट पर सटीक निशाना लगाकर यह साबित कर दिया की वह कितनी अच्छी प्लेयर हैं। स्वामिनी स्टेट लेवेल के कई कंपटीशन में शामिल हो चुकी हैं।

उनके स्टूडेंट्स ने भी तीर से गुबारे फोड़ किया गेस्ट का स्वागत
- शादी में मौजूद उनके स्टूडेंट्स ने भी तीर से मंडप में लगे गुबारे फोड़ कर मेहमानों का स्वागत किया। स्वामिनी के कोच शुभांगी दलवी का कहना है कि इस प्रयास से तीरंदाजी को प्रोत्साहन मिलेगा।

शादी के बाद भी जारी रखेंगी तीरंदाजी
- राज्यस्तर पर तीरंदाजी में अपना हुनर दिखाने वाली स्वामीनी शादी के बाद भी राष्ट्रीय स्तर पर खेलना चाहती हैं। स्वामिनी ने बताया,"शादी में कुछ अलग करने की इच्छा थी। मैं धनुर्विद्या में माहिर हूं, इसलिए मैंने तीरंदाजी का प्रदर्शन कर मेहमानों को अनूठा गिफ्ट दिया।"

पति ने कहा-तीरंदाजी के लिए काम करूंगा
- उनके पति प्रसाद भांगे ने बताया,"मेरी वाइफ एक अच्छी तीरंदाज है। मैं आगे भी राष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिए प्रोत्साहित करूंगा। तीरंदाजी को बढ़ावा मिले इसलिए दोनों मिलकर काम करेंगे।"

X
फेरे लेने से पहले महिला तीरंदाफेरे लेने से पहले महिला तीरंदा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..