--Advertisement--

ICSE रिजल्ट 2018: दसवीं और बारहवीं में मुंबई के लड़कों ने किया टॉप

देश भर में जारी इस परीक्षा में इस बार मुंबई के लड़कों ने बाजी मारी है।

Danik Bhaskar | May 14, 2018, 07:58 PM IST
अभिज्ञान चक्रवती। अभिज्ञान चक्रवती।

मुंबई. काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) बोर्ड की तरफ से दसवीं आईसीएसइ (ICSE) और बारहवीं आईसीएस (ICS) परीक्षा के रिजल्ट सोमवार को जारी कर दिए गए। देश भर में जारी इस परीक्षा में इस बार मुंबई के लड़कों ने बाजी मारी है।

टॉपर की मां को नहीं हो रहा विश्वास
- बारहवीं में जहां माटुंगा के पोद्दार हाई स्कूल के छात्र अभिज्ञान चक्रवती ने 99.50 प्रतिशत लाया तो, वहीं दसवीं में कोपरखैराने के सेंट मैरी स्कूल के स्वयं दास ने 99.40 प्रतिशत लाकर देश में टॉप किया। वहीं विलेपार्ले स्थित नरसी मोंजी स्कूल की अनोखी मेहता दूसरे स्थान पर रहीं हैं।
- अभिज्ञान की मां अनन्या चक्रवर्ती ने बेटे की इस सफलता पर बताया, "अच्छे नंबर से पास हो यही अभिज्ञान का लक्ष्य था। मुझे पूरा भरोसा था कि वह अपने स्कूल में पहले नंबर पर आएगा लेकिन उसे देश भर में पहला स्थान हासिल किया, मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है, यह मेरे लिए एक सुख की घड़ी है।"

अभिज्ञान बनना चाहता है वैज्ञानिक
- अपनी इस सफलता पर साइंस के छात्र अभिज्ञान चक्रवर्ती ने कहा,"मैंने सपने में भी नहीं सोचा था मेरा 99.50 प्रतिशत नंबर आएगा। मेरा वैज्ञानिक बनने का सपना पूरा होगा। केमिस्ट्री में मेरी विशेष रूचि है. अब आगे जो मेरे लिए उचित होगा उसी विषय का चुनाव करूंगा।"

दूसरे नंबर पर भी मुंबई
- अभिज्ञान चक्रवर्ती के अलावा बारहवीं पोद्दार हाई स्कूल की प्रिया खजांची (कॉमर्स) और रक्षिता देशमुख (ह्यूमिनिटी), पुणे स्थित बिशप्स स्कूल की रीतिशा गुप्ता संयुक्त रूप से दूसरा स्थान हासिल किया।
- सेंट मैरी हाईस्कूल की टीचर शारदा ने बताया,"स्वयं दास पहले से ही पढ़ने में होशियार छात्र था। वह बोर्ड में पहले स्थान पर आएगा हमें पहले से ही ऐसी आशा थी।"


लड़कियों ने फिर मारी बाजी
- हर साल की तरह इस बार भी लड़कियां लड़कों पर भारी पड़ीं। पास होने की संख्या में लड़कों की अपेक्षा लड़कियों की संख्या अधिक रही।
- बारहवीं में जहां 97.63 फीसदी लड़कियां पास हुई तो लड़कों के पक्ष में यह आंकड़ा 94.96 फीसदी रहा। इसके अलावा दसवीं की परीक्षा में 98.95 फीसदी लड़कियां पास हुई तो 98.15 फीसदी लड़के पास हुए।
- ICSE बोर्ड की बारहवीं की परीक्षा में इस बार 10.88 लाख छात्रों ने परीक्षा दिया था। जिसमे से 96.21 फीसदी छात्र पास हुए। जबकि दसवीं में 16 लाख छात्र शामिल हुए थे जिसमें से

98.5 फीसदी छात्र पास हुए।

यहां देखे रिजल्ट
- रिजल्ट को देखने के लिए आप CISCE की वेबसाइट www.cisce.org याwww.results.cisce.org पर क्लिक कर देख सकते हैं।