--Advertisement--

कोरेगांव भीमा हिंसा मामला: मुंबई, नागपुर और दिल्ली से तीन और गिरफ्तार

इसी मामले में संभाजी ब्रिगेड के संभाजी भिड़े 'गुरुजी' और हिंदू एकता अगाड़ी के अध्यक्ष मिलिंद एकबोटे आरोपी हैं।

Dainik Bhaskar

Jun 06, 2018, 11:37 AM IST
महाराष्ट्र के कोरेगांव भीमा म महाराष्ट्र के कोरेगांव भीमा म

पुणे. महाराष्ट्र के कोरेगांव भीम में इसी साल जनवरी महीने में हुई जातीय हिंसा के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट किया है। इन्हें मुंबई, नागपुर और दिल्ली से पकड़ा गया है। इस मामले में पुलिस पहले भी तीन नाबालिगों को अरेस्ट कर चुकी है। बता दें कि 1 जनवरी को हुई इस हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हुए थे। इसी मामले में संभाजी ब्रिगेड के संभाजी भिड़े 'गुरुजी' और हिंदू एकता अगाड़ी के अध्यक्ष मिलिंद एकबोटे आरोपी हैं।

ये तीन हुए अरेस्ट
- पुणे पुलिस के मुताबिक, इस मामले में राणा जैकब को दिल्ली, वकील सुरेंद्र गडलिंग को नागपुर और सुधीर ढवडे को गोवंडी से गिरफ्तार किया है। इससे पहले भी पुलिस तीन
नाबिलगों को गिरफ्तार कर चुकी है। बता दें कि कुछ महीनों पहले सुधीर ढवडे के घर की तलाशी ली गई थी। मंगलवार को उन्हें हिरासत में लिया गया।

- तीनों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। आज तीनों को पुणे के शिवाजी नगर कोर्ट में पेश किया जाएगा। इन सभी पर विवादित पर्चे बांटने और हेट स्पीच देने का आरोप है। खासकर ढवडे को माओवादियों से संबंधों के आरोप में 2011 में भी गिरफ्तार किया गया था।

फ्लैशबैक

- 1 जनवरी 1818 में कोरेगांव भीमा की लड़ाई में पेशवा बाजीराव द्वितीय पर अंग्रेजों ने जीत दर्ज की थी। इसमें दलित भी शामिल थे। बाद में अंग्रेजों ने कोरेगांव भीमा में अपनी जीत की याद में जयस्तंभ का निर्माण कराया था। आगे चल कर यह दलितों का प्रतीक बन गया।

- इस वर्ष जब दलितों का एक समूह भीमा-कोरेगांव लड़ाई की 200वीं सालगिरह के कार्यक्रम में जा रहा था। इस बीच वढू बुद्रुक इलाके में छत्रपति शंभाजी महाराज के दर्शन करने जा रहा दूसरा गुट रास्ते में आ गया। यहां कहासुनी से बढ़कर बात हिंसा में बदल गई। इस हिंसा में एक युवक की मौत हो गई। 50 गाड़ियों में आग लगा दी गई।

इसलिए बन गया था सियासी मुद्दा

- देश में कुल 16% दलित आबादी है। बात महाराष्ट्र की करें तो यहां 10.5% दलित आबादी है। इसमें से विदर्भ में सबसे ज्यादा 23% दलितों की संख्या है। वहीं, मराठा की राज्य में 33 फीसदी आबादी है।

- विधानसभा की बात करें तो हर विधानसभा में औसतन 15,000 दलित वोटर्स हैं, जबकि महाराष्ट्र में लोकसभा की 15 सीटों पर दलित वोटर्स, कैंडीडेट का भविष्य तय करते हैं।

X
महाराष्ट्र के कोरेगांव भीमा ममहाराष्ट्र के कोरेगांव भीमा म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..