--Advertisement--

क्रूरता / श्लोक न पढ़ पाने पर शिक्षक ने दो बच्चों के प्राइवेट पार्ट्स पर बांधा मांझा, गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती



  • आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया गया है
  • बच्चे फिलहाल पुणे के एक हॉस्पिटल में एडमिट हैं
Danik Bhaskar | Sep 17, 2018, 12:07 PM IST

पुणे. स्कूल में श्लोक ठीक से नहीं पढ़ पाने पर एक टीचर ने दो बच्चों के प्राइवेट पार्ट्स को पतंग के मांझे से कस दिया। इसके बाद उनकी तबियत बिगड़ गई और उन्हें गंभीर हाल में हॉस्पिटल में एडमिट करवाना पड़ा। बाद में परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी टीचर को अरेस्ट कर लिया है।

 

पीड़ित बच्चे हैं चचेरे भाई: मामला पुणे के गणेश वेद पाठशाला का है। यह एक आवासीय स्कूल है। इस स्कूल में वैदिक शिक्षा दी जाती है। शिक्षक की क्रूरता का शिकार हुए दोनों बच्चे 9 और 10 साल के हैं। वे रात के खाने से पहले श्लोक नहीं पढ़ सके थे। टॉर्चर का शिकार हुए दोनों बच्चे चचेरे भाई हैं और महाराष्ट्र के अकोला के रहने वाले हैं। बच्चों की तबीयत बिगड़ने पर जब परिजन स्कूल पहुंचे तो बच्चों ने उन्हें आप-बीती सुनायी।

 

बच्चों की पिटाई भी की: इस बात से स्कूल के टीचर सुधीर कुलकर्णी (44 वर्षीय) बेहद नाराज हुए और उन्होंने बच्चों को सजा देने के लिए उनके प्राइवेट पार्ट को मांझे से कस दिया और फिर बच्चों की पिटाई भी की। मांझा, जो कि कांच और गोंद का मिश्रण होता है, उससे बच्चों के प्राइवेट पार्ट में चोट पहुंची और उनकी तबियत खराब हो गई। 
 

--Advertisement--