Hindi News »Madhya Pradesh »Agar» मौत के कई कारण : पॉलिथीन और लेंटाना पौधा, निमोनिया के साथ पाचन तंत्र कमजोर

मौत के कई कारण : पॉलिथीन और लेंटाना पौधा, निमोनिया के साथ पाचन तंत्र कमजोर

सालरिया के गो-अभयारण्य में गायों की मौत की जांच रिपोर्ट में कई कारण सामने आए हैं। जांच के लिए गो अभयारण्य पहुंची...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 07, 2018, 05:10 AM IST

सालरिया के गो-अभयारण्य में गायों की मौत की जांच रिपोर्ट में कई कारण सामने आए हैं। जांच के लिए गो अभयारण्य पहुंची पशु चिकित्सा महाविद्यालय महू और संभागीय जांच दल की रिपोर्ट में मौत का कारण पॉलिथीन और लेंटाना पौधे खाना, निमोनिया और पाचन तंत्र कमजोर होना बताया गया है। वहीं भूसे के जो सेंपल जांच में लिए थे, वे पशुओं के खाने योग्य बताए हैं। गायोंं की मौत पर बवाल मचने के बाद 29 दिसंबर को पशु चिकित्सा महाविद्यालय महू के चिकित्सक व संभागीय जांच टीम ने 6 बीमार पशुओें की जांच कर एक गाय का पीएम किया था। जांच के लिए सेंपल भी लिए थे।

ये ध्यान रखने को कहा

गायों की देखभाल के लिए उन्हें उम्र के हिसाब से अलग-अलग रखा जाना चाहिए। बीमार पशुओं को अलग शेड में रखें। जांच के लिए अभयारण्य में लैब हो। गायों को मिनरल मिक्चर दे।

25 दिसंबर को पशु रोग अनुसंधान प्रयोगशाला उज्जैन की वेटरनरी सर्जन डॉॅ. स्मृति मिश्रा, उज्जैन कार्यालय उपसंचालक डॉ. वीरेंद्र वर्वे और लैब टेक्नीशियन अशोक मिश्रा ने 5 गायों का पोस्टमार्टम किया था। इसकी रिपोर्ट पशु चिकित्सा विभाग के पास पहुंच चुकी है। 27 दिसंबर को राज्य पशु चिकित्सा अनुसंधान केंद्र भोपाल से डॉक्टर प्रमाण, इंदौर से डॉ. अमित व्यास पहुंचे थे। इन्होंने 2 का पीएम कर बीमार गायों की जांच की थी। इनकी रिपोर्ट अभी आना बाकी है। संयुक्त संचालक नरेन्द्र कुमार बामनिया ने बताया संभागीय जांच दल ने गायों की मौैत का कारण पॉलिथीन और अभयारण्य में मौजूद लेंटाना के पौधे खाना व निमोनिया के साथ लीवर डेमेज होना बताया है। पशु चिकित्सा महाविद्यालय महू के डॉ. एच. के. मेहता ने बताया जिस गाय का हमने पीएम किया था, उसका पाचन तंत्र कमजोर था। बाकी गायों में कोई संक्रमण नहीं पाया गया। शेष गायों में निमोनिया के लक्षण और कमजोरी पाई गई। रिपोर्ट सौंप दी गई है।

गो-सेवक कल से 5 दिन तक धरना देंगे

आगर मालवा | पशुपालन विभाग से प्रशिक्षित गो सेवक मांगों के संबंध में सोमवार से 13 जनवरी तक पशु चिकित्सालय के सामने धरना देंगे। मध्य प्रदेश गो-सेवक संघ के जिलाध्यक्ष पंकज यादव ने बताया हमने 20 दिसंबर 2017 को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन कलेक्टोरेट में सौंपा था। इस पर शासन द्वारा हमारी मांगों पर कोई विचार नहीं किया गया। हमारे द्वारा अपनी मांगों को लेकर यह धरना सुबह 11 से 5 बजे तक दिया जाएगा।

अधिकारियों ने 100 से ज्यादा लोगों के बयान दर्ज किए

सुसनेर | सालरिया गो-अभयारण्य में हो रही गायों की मौत के मामले में कलेक्टर द्वारा गठित तीन सदस्यीय जांच दल ने शनिवार को स्थानीय विश्राम गृह पर लोगों के कथन दर्ज किए। सुबह 11 बजे शुरू हुई कार्रवाई में टीम के समक्ष किसी ने लिखित में, तो किसी ने साक्ष्य के रूप से अपने बयान दर्ज कराए। कुछ लोगों ने वीडियो रिकॉर्डिंग और सीडी भी सौंपी। दिनभर में 100 के लगभग लोगों ने अपने बयान दर्ज कराए गए। जांच दल में एडीएम एन. एस. राजावत, एसडीएम के. एल. यादव तथा पशु चिकित्सा विभाग के डॉ. एम. एस. पटेल ने ग्रामीणों व अन्य लोगों के बयान दर्ज किए। पूरी कार्रवाई के दौरान भाजपा और कांग्रेस के कई स्थानीय नेता तथा जिले के पदाधिकारी भी मौजूद थे। कांग्रेस की ओर से जिला कांग्रेस अध्यक्ष बाबूलाल यादव, प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि राणा विक्रमसिंह, विजयसिंह पांडे, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इरशाद कुरैशी सहित कई अन्य लोगों ने भी अपने बयान दर्ज कराए। भाजपा की तरफ से पूर्व विधायक बद्रीलाल सोनी, मंडल अध्यक्ष महेश शर्मा, जिला मंत्री प्रदीप सोनी, मांगीलाल सोनी सहित कई अन्य नेताअों ने अपने बयान दर्ज कराए है। इसके अलावा सालरिया और अासपास के कई ग्रामीणों ने भी अपने बयान दर्ज कराए है। थोड़ी देर के लिए तो विश्राम गृह पर भाजपा और कांग्रेस के नेताओं की भीड़ सी लग गई थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Agar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×