• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Amla News
  • Amla - डैमों, जलाशयों में पानी नहीं, गणेश जी विराजेंगे लेकिन विसर्जन कहां करेंगे
--Advertisement--

डैमों, जलाशयों में पानी नहीं, गणेश जी विराजेंगे लेकिन विसर्जन कहां करेंगे

इस साल कम बारिश के कारण केवल किसान नहीं बल्कि गृहस्थ महिलाएं भी परेशान हैं। महिलाओं का कहना है इस साल भी उन्हें...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:15 AM IST
इस साल कम बारिश के कारण केवल किसान नहीं बल्कि गृहस्थ महिलाएं भी परेशान हैं। महिलाओं का कहना है इस साल भी उन्हें तीजा पर्व पर जवारे विसर्जन के लिए पानी की कमी का सामना करना पड़ेगा। खास बात ये है कि गणेश विसर्जन की टोलियों को भी मायूस होना पड़ सकता है। इस साल अभी तक केवल 433 मिमी बारिश दर्ज की है। इस बारिश से न तो रेलवे का डैम सही ढंग से भर पाया है और न ही चंद्रभागा, कुड़मड़ आदि नदियां। 12 तारीख को महिलाएं हरतालिका वृत रखेंगी। महिलाएं इस दिन जवारे लेकर नदियों पर पहुंचेंगी। पिछले साल भी उन्हें कृत्रिम कुंड में जवारे विसर्जन करना पड़े थे। इस साल नदी में पानी रोका गया है। इस कारण कुंड की नौबत तो नहीं आएगी, लेकिन पानी की कमी का सामना जरूर करना पड़ेगा।

प्रतिमा तैयारी अंतिम चरण में: नगर में डेढ़ दर्जन से अधिक स्थानों पर गणेश प्रतिमा का निर्माण होता है। मूर्ति बनाने वाले इस साल केवल मिट्टी की प्रतिमा का निर्माण कर रहे हैं। मूर्तिकार अमित प्रजापति, राहुल प्रजापति आदि ने बताया स्थानीय मूर्तिकार हमेशा से मिट्टी की प्रतिमा बनाते आए हैं, लेकिन कुछ बाहरी लोग यहां आकर पीओपी की प्रतिमा बेचना शुरू कर देते हैं। थाना प्रभारी संतोषसिंह चौहान ने भी मूर्तिकारों के प्रतिष्ठानों में पहुंचकर मूर्तिकारों को पीओपी मूर्ति विक्रय नहीं करने की समझाइश दी।



आमला। मूर्तिकार प्रतिमा को अंतिम रूप देते हुए।

बनी हैं 3 हजार से ज्यादा प्रतिमाएं

नगर में प्रमुख रूप से रेलवे डैम, चंद्रभागा नदी, कुड़मुड़ नदी में प्रतिमा विसर्जन होता है। करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा मूर्तिकारों ने 3 हजार से अधिक छोटी-बड़ी प्रतिमाएं तैयार की हैं। ऐसे में बारिश की कमी के कारण प्रतिमा स्थापना करने वाली टोलियों को भी मायूसी का सामना करना पड़ रहा है। गोविंद कॉलोनी हनुमान मंदिर समिति के गंगाधर खंडागरे, कमलेश माकोड़े ने बताया इस साल पिछले साल की तुलना में और छोटी सार्वजनिक प्रतिमा स्थापित की जा रही है। कुछ ऐसे ही हालात अन्य पंडाल में भी नजर आएंगे।

मांगा स्थानीय अवकाश

नपा अध्यक्ष लाजवंती नागले ने कलेक्टर को पत्र लिखकर तीजा पर्व पर स्थानीय अवकाश घोषित करने की मांग की है। कहा है इस दिन महिलाएं निर्जला वृत रखती हैं। ऐसे में जो महिलाएं शासकीय कार्य में जुटी रहती हैं, उन्हें काफी परेशानी होती है, न तो वे सही ढंग से पूजा-अर्चना कर पाती हैं और न ही शासकीय सेवा दे पाती हैं। रामरती, कौशल्या बाई सहित अन्य का कहना है कि जवारे विसर्जन के लिए नदियों पर अच्छे इंतजाम होने चाहिए। रुका हुआ, दूषित पानी महिलाओं की परेशानी का कारण बनता है।

मिट्‌टी के गणेश को स्थापित

करने की तैयारी जारी

रानीपुर| हीरावाड़ी में गणेशोत्सव को लेकर युवा प्रदीप सिनोटिया मिट्टी के गणपति तैयार कर रहे हैं। इससे ग्रामीण अति उत्साहित है। इससे जल दूषित नहीं होगा। डॉ. बीडी सिनोटिया, राजेश सिनोटिया, उत्तम झल्लारे, नकुल चौरे, मारूति बघेल, सोमनाथ सिनोटिया ने उनका समर्थन करते हुए प्रयास की सराहना की।