• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Amla
  • साप्ताहिक बाजार का ठेका नहीं हो सका, दो ठेके बढ़ी हुई दर पर दिए
--Advertisement--

साप्ताहिक बाजार का ठेका नहीं हो सका, दो ठेके बढ़ी हुई दर पर दिए

Amla News - नगर पालिका में साप्ताहिक बाजार का ठेका सोमवार को नहीं हो पाया। वाहन विराम शुल्क और साइकिल स्टैंड का ठेका बढ़ी हुई...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:10 AM IST
साप्ताहिक बाजार का ठेका नहीं हो सका, दो ठेके बढ़ी हुई दर पर दिए
नगर पालिका में साप्ताहिक बाजार का ठेका सोमवार को नहीं हो पाया। वाहन विराम शुल्क और साइकिल स्टैंड का ठेका बढ़ी हुई कीमत पर दिए गए। प्रक्रिया पूरी नहीं होने पर नपा कर्मचारी बाजार में वसूली करेंगे। नपा में पहले ही कर्मचारियों की कमी है। अब कर्मचारियों पर वसूली का दबाव सामने आ रहा है। कर्मचारियों के वसूली पर जाने से नपा में अपने काम करवाने पहुंच रहे नागरिकों के काम प्रभावित हो रहे हैं।

केवल 1 ही ठेकेदार आया

नगर पालिका में सोमवार को साप्ताहिक बाजार का ठेका देने के लिए टेंडर बुलाए गए थे। दोपहर 1 बजे शुरू होने वाली प्रक्रिया से 1 घंटा पहले ठेकेदारों को 2 लाख रुपए अमानत राशि जमा करना था। प्रक्रिया मेें शामिल होने केवल एक ठेकेदार दीपक उबनारे ही नपा पहुंचे। अन्य ठेकेदारों ने इसमें रूचि नहीं ली। प्रभारी बीएल पवार और जहांगीर खान ने प्रक्रिया को रोक दी है। अब दोबारा टेंडर की नई तारीख तय कर डलवाए जाएंगे।

आमला. बाजार नीलामी प्रक्रिया करते नपा अिधकारी।

लंबे समय से चल रहा देरी का सिलसिला

नगर पालिका में यह सिलसिला पिछली परिषद के समय से चलता आ रहा है। प्रक्रिया में देरी होने के कारण नपा कर्मचारियों पर हर साल नए वित्तिय वर्ष के शुरुआती महीनों में बाजार वसूली का दबाव आता है। नई परिषद के तीनों ही वित्तिय वर्ष में पुराने ठेकेदारों पर बकाया सामने आया है।

दो नए ठेकों का 1.42 लाख ज्यादा देगी नपा

सोमवार को हुई नीलामी प्रक्रिया में बस स्टैंड का वाहन विराम शुल्क नए वित्तीय वर्ष में 2.30 लाख रुपए में गया है। यह ठेका चंदू चंदेल ने लिया है। पिछले साल यह ठेका 1.30 लाख रुपए में हुआ था। एक लाख रुपए अधिक में यह ठेका दिया गया। साइकल स्टैंड का ठेका इस साल 91 हजार रुपए में नवीन सोनेकर ने लिया। पिछले साल 49 हजार में गया था।


X
साप्ताहिक बाजार का ठेका नहीं हो सका, दो ठेके बढ़ी हुई दर पर दिए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..