विज्ञापन

स्कूल में रजिस्टर नहीं मिला तो ज्वॉइन करने आईं लेडी टीचर ने दीवार पर किए साइन, SDM से फोन पर प्रिंसिपल बोलीं- डीईओ करें निरीक्षण, आपको कोई अधिकार नहीं है

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2019, 09:15 AM IST

...तो इसलिए रजिस्टर स्कूल के अलमारी में बंद कर गायब हो गई थीं प्रिंसिपल

  • comment

अशोकनगर (Ashoknagar MP News)। जिले में शैक्षणिक व्यवस्था किस तरह चरमराई हुई है, इसका ताजा उदाहरण शनिवार को शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक-1 में देखने को मिला। जब दोपहर एक बजे तक शिक्षक उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर किए गए बगैर प्रभारी प्राचार्य का इंतजार करते रहे और बगैर किसी वरिष्ठ अधिकारी को सूचना दिए बगैर प्राचार्य अनुपस्थित रहीं। सूचना मिलने पर जब एसडीएम पहुंचे और उन्होंने एक शिक्षक के फोन से प्राचार्य से अनुपस्थित होने की वजह पूछी तो महिला प्राचार्य ने अपनी गलती मानने की बजाय उल्टा एसडीएम से कहा कि स्कूल निरीक्षण का अधिकारी डीईओ को हैं आप को नहीं। इस जवाब से तमतमाएं एसडीएम ने तत्काल जिला शिक्षाधिकारी को तलब करते हुए पंचनामा तैयार करवाया और संबंधित प्राचार्य के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उनके निलंबन की अनुशंसा की।

शनिमंदिर के सामने संचालित क्रमांक-1 स्कूल में जब दोपहर 1 बजे तक जब प्राचार्य के नहीं पहुंचने एवं हाजिरी रजिस्टर अलमारी में बंद होने की सूचना मिली तो एसडीएम नीलेश शर्मा स्कूल में पहुंचे। जब उन्होंने स्कूल में पहुंचने के बाद प्रभारी प्राचार्य सुमन यादव के अनुपस्थित रहने की वजह पूछी तो एक शिक्षक ने फोन लगाकर प्राचार्य से बात कराई। इस दौरान जब एसडीएम श्री शर्मा ने प्राचार्य से बात की ।


भास्कर पड़ताल: इसलिए रजिस्टर था अलमारी में बंद
जब हमने स्कूल में प्राचार्य के अनुपस्थित होने के कारण खोजे तो पता चला कि शनिवार को हाल ही में स्थानांतरण के बाद सीमा शर्मा नाम की शिक्षिका को ज्वाइन करना था। श्रीमती शर्मा की सीनियरटी के चलते वे स्वत: ही स्कूल की प्रभारी प्राचार्य बन जाती। इसको देखते हुए वर्तमान प्राचार्य ने अलमारी में रजिस्टर रखकर गायब हो गईं जिससे वे उपस्थिति रजिस्टर में अपने हस्ताक्षर न कर सकें। इसके चलते श्रीमती शर्मा ने ऑफिस की दीवार पर समय लिखकर अपने हस्ताक्षर भी कर दिए।


मात्र 4 शिक्षक थे मौके पर मौजूद
हायर सेकंडरी स्कूल में 9 शिक्षकों का स्टाफ है लेकिन जब एसडीएम मौके पर पहुंचे तो वहां मात्र 4 ही शिक्षक मौजूद थे। शिक्षकों ने बताया कि दो शिफ्ट में स्कूल संचालित होने की वजह से सुबह भी शिक्षक आते हैं लेकिन जब जानकारी ली तो सुबह की शिफ्ट में भी एक ही शिक्षक उपस्थित होने की जानकारी लगी। जिसका उल्लेख एसडीएम ने पंचनामा में भी किया है।


प्रभारी प्राचार्य ने अभद्रता की
मीडिया से स्कूल में प्राचार्य के एक बजे तक अनुपस्थित रहने की जानकारी मिली थी। जब मौके पर पहुंचकर एक शिक्षक ने फोन से प्रभारी प्राचार्य से बातचीत कराई तो उन्होंने अभद्रता करते हुए कहा कि जांच का अधिकारी जिला शिक्षाधिकारी को है। निलंबन का प्रस्ताव बनाने के निर्देश जिला शिक्षाधिकारी को दिया है। नीलेश शर्मा, एसडीएम अशोकनगर

X
COMMENT
Astrology
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें