15 को केंद्रीय दल आंकलन के लिए आएगा इससे पहले एसडीएम ने खेतों पर जाकर देखी फसल

Ashoknagar News - खेतों में बर्बाद हुई फसलों का निरीक्षण करते अफसर, यहां आंकलन करने आने वाला है केंद्रीय दल। टीम जब निरीक्षण के लिए...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:35 AM IST
Mungawali News - mp news central team will come for assessment on 15th before sdm visited the fields and saw the crop
खेतों में बर्बाद हुई फसलों का निरीक्षण करते अफसर, यहां आंकलन करने आने वाला है केंद्रीय दल।

टीम जब निरीक्षण के लिए खेतों में पहुंची तो अब भी खेतों में बारिश का पानी भरा मिला

भास्कर संवाददाता| मुंगावली

अधिक बारिश से हुए नुकसान के आंकलन के लिए आगामी 15 अक्टूबर को केन्द्रीय दल आएगा। दल के पहुंचने से पहले एसडीएम ने ब्लॉक के गांवों में पहुंचकर खेतों में खराब हुई फसल का जायजा लिया। इस बीच किसानों ने अपनी खराब फसल दिखाकर एसडीएम के सामने अपना दुखड़ा भी रोया। टीम जब निरीक्षण के लिए खेतों में पहुंची तो अब भी खेतों में बारिश का पानी भरा मिला। कई खेत तो ऐसे मिले जहां 100 फीसदी नुकसान हुआ है।

एसडीएम राजन बी नाडिया, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष दीपक पालीवाल, आरआई रामकृष्ण अहिरवार, पटवारी जितेन्द्र शर्मा, सुलाभवेग, घनश्याम अहिरवार ने गांवों में पहुंचकर फसलों का दौरा किया। उल्लेखनीय है कि अधिक बारिश से इस बार किसानों की फसलें बर्बाद हो गईं। क्षेत्र में बेतवा, कैथन नदी के किनारें बसें गांवों व उसके आसपास के खेतों में हफ्तों भरे पानी से उड़द पूरी तरह नष्ट हो गई। सोयाबीन की फसलों को भी नुकसान हुआ है।

किसानों ने रोया अपना दुखडा: जब दल ग्राम सेमरखेड़ी पहुंची तो खेत के पास किसान बाबूलाल यादव मिला। उसने अपना खेत बताते हुए कहा साहब आप खेत देख लो एक भी दाना नहीं बचा। फसल के ठूंठ बचे हैं, वह भी ढोर तक उसे नहीं खा रहे। अगली फसल बोबे भी हमारे पास व्यवस्था नहीं। किसान कल्लू, रघुवीर ने बताया कि हमने इस साल 100 बीघा जमीन बटाई पर ली थी सारी फसल बर्बाद हो गई। ग्राम सेमरखेड़ी के रघुराज सिंह, घूमन सिंह लोधी, वृंदावन सिंह बदलापुर, राजासिंह, राम सिंह ने भी बर्बाद फसलों का रोना रोया। एसडीएम ने किसानों की हिम्मत बांधते हुए कहा कि शासन आपके साथ हैं। ब्लॉक अध्यक्ष ने कहा आप लोग चिंता न करें। सरकार आपके प्रति चिंतित है। जिनका 80 फीसदी नुकसान हुआ है उसे 100 फीसदी का मुआवजा मिलेगा।

गांवों में फसलों के निरीक्षण के दौरान कई खेत तो ऐसे मिले जहां 100 फीसदी नुकसान हो गया है

बारिश थमी लेकिन अब भी जमा है पानी

भले ही बारिश थम गई हो लेकिन अब भी खेतों में पानी का भराव हो रहा है। बारिश से प्रभावित फसलों का दौरा करते हुए महुआखाडी, छोटी भोपाल, सेमरखेड़ी के खेतों में पानी भरा मिला, जिसमें निरीक्षण दल खेतों में नहीं जा सका। निरीक्षण दल ने ग्राम किरोला, ग्राम जखौरा के खेतों का भी जायजा लिया। जहां अधिकांश खेतों की फसलें बर्बाद हो चुकी हैं।

इधर.. सर्वे न होने से किसान परेशान

सेहराई। उड़द-सोयाबीन की फसलें अधिक बारिश से खराब हो चुकी हैं और किसान सर्वे के बाद मुआवजा मिलने का इंतजार कर रहे हैं। किसान बलराम सिंह चौहान, राम सिंह कुर्मी, दर्शन सिंह कटारिया, कमल सिंह यादव, दीपक लिटौरिया ने बताया कि उड़द की फसल तो करीब-करीब खत्म हो गई। खेतों की कटाई, थ्रेसर में जितनी लागत आ रही है उतनी फसल नहीं निकलनी। कुछ खेतों में ताे कचड़ा दिख रहा है। किसान अगली फसल कैसे वो पाएगा। यही चिंता बनी हुई है। ग्राम पठारी के दशरथ सिंह, गोविंद सिंह लोधी, देव सिंह कुशवाह, रामस्वरूप लोधी, सुबोध जेन, देवेन्द्र सिंह यादव ने शासन से बर्बाद फसलों के मुआवजे की मांग की है।

X
Mungawali News - mp news central team will come for assessment on 15th before sdm visited the fields and saw the crop
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना