मनुष्य जीवन के लिए देवता भी तरसते हैं, इसलिए करें सदुपयोग : शास्त्री

Ashoknagar News - श्री हनुमान मंदिर परिसर भेड़का में सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा चल रही है। कथा का वाचन दोपहर 1 से शाम 5 बजे तक चल रहा...

Feb 12, 2020, 08:26 AM IST

श्री हनुमान मंदिर परिसर भेड़का में सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा चल रही है। कथा का वाचन दोपहर 1 से शाम 5 बजे तक चल रहा है। कथा का वाचन अयोध्या धाम से पधारे कथावाचक श्रीराम शास्त्री द्वारा किया जा रहा है। कथा के चौथे दिन श्री कृष्ण जन्म की कथा सुनाई।

कथा का वाचन करते हुए व्यासजी श्रीराम शास्त्री ने कहा कि मनुष्य जीवन के लिए तो देवता भी तरसते हैं। इस जीवन का हमें सदुपयोग करना चाहिए। कथा के दौरान भगवान शिव, ध्रुव चरित्र, वामन अवतार, नृसिंह अवतार, कश्यप अवतार सहित कई प्रसंग सुनाए। कथा के दौरान भगवान राम के अवतार लेने की कथा सुनाई। उन्होंने कहा कि भगवान राम ने अवतार धारण कर धरती पर धम की स्थापना की। उन्होंने रावण का वध कर रामराज्य स्थापित किया। भगवान राम का सम्पूर्ण जीवन मर्यादा में सिमटा रहा। उन्होंने कहा कि कंस का वध करने के लिए लिया भगवान कृष्ण ने अवतार लिया। उन्होंने बताया कि द्वापर युग में मथुरा का राजा कंस अपने बल के कारण स्वयं को ईश्वर मानने लगा। इस दौरान धरती पर धर्म कर्म करना कठिन हो गया। तब नारायण ने वासुदेव देवकी के यहां कंस के कारागृह में कृष्ण के रूप में अवतार धारण किया। जैसे ही कथा में भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ तो पूरा पांडाल जयकारों से गूंज उठा। ढोल ढमाकों के बीच सिर पर श्रीकृष्ण को उठाए नंद बाबा का जैसे ही कथा स्थल पर प्रवेश हुआ तो महिला पुरुष खुशी में नृत्य करने लगे।

भागवत कथा का श्रवण करते श्रद्धालुजन।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना