हमारे जिला अस्पताल की फिर देखिए अव्यवस्था की दो तस्वीरें..

Ashoknagar News - हर बार अव्यवस्थाओं पर सुधार करने की बात कहने वाले जिला अस्पताल की व्यवस्था सुधारने में प्रबंधन अभी भी नाकाम है।...

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:40 AM IST
Ashoknagar News - mp news see again our district hospital two pictures of disorder
हर बार अव्यवस्थाओं पर सुधार करने की बात कहने वाले जिला अस्पताल की व्यवस्था सुधारने में प्रबंधन अभी भी नाकाम है। बीती रात और उसके कुछ ही घंटे बाद सुबह दो मामलों ने प्रबंधन के तैयारियों की पोल खोल दी है। जहां रात को ट्रामा सेंटर के मीटर में आग लगने के बाद तीन वार्ड के 100 से अधिक मरीजों को तीन घंटे अंधेरे और गर्मी में काटना पड़े। तो सुबह एक मरीज की मौत होने पर परिजन को एक कर्मचारी ने शव वाहन के स्थान पर कचरा वाहन उपलब्ध कराने की बात कही तो आर्थिक रूप से कमजाेर परिजनों को हाथठेले पर ही शव को ले जाना पड़ा।

जिला अस्पताल के नहीं सुधर रहे हालात, प्रबंधन है इसके लिए जिम्मेदार, इसी महीने एक्सरे के लिए निजी सेंटर भेजा था दिव्यांग की प|ी को, अब एक गरीब को शव वाहन नहीं दिया

रात 12 बजे मीटर में लगी आग, फोन लगाने पर भी नहीं आया इलेक्ट्रीशियन, 3.5 घंटे अंधेरे में रहे मरीज

सुबह कटौती के कारण बंद हुई फिर बिजली गुल

जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में प्रसूता वार्ड, मेल और महिला वार्ड हैं। रात को मीटर में आग लगने के बाद सभी वार्डों की बिजली गुल हो गई। तत्काल कर्मचारियों ने अस्पताल में बिजली व्यवस्था के लिए नियुक्त इलेक्ट्रीशियन राजीव जैन को फोन किया, लेकिन इलेक्ट्रीशियन ने फोन नहीं उठाया। जानकारी लगने पर प्रबंधक डाॅ. प्रशांत दुबे पहुंचे। फिर उन्होंने अपने स्तर पर प्रयास से साढ़े तीन घंटे बाद बिजली चालू करवाई। साढ़े तीन घंटे अस्पताल में भर्ती मरीज और उनके परिजन गर्मी और उमस से परेशान रहे। वहीं सुबह कटौती की वजह से फिर लंबे समय के लिए लाइट गुल रही।

अस्पताल में अपने बच्चे को हवा करती हुई महिला।

टीबी से मृत मरीज को नहीं मिला शव वाहन, कर्मचारी ने कहा- कचरा वाहन मिलेगा तो परिजन ठेले पर ले गए

कर्मचारी बोले- हटाया जाए इलेक्ट्रीशियन

रात में इलेक्ट्रीशियन की लापरवाही से नाराज होकर अस्पताल में नाइट ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों ने सिविल सर्जन को आवेदन देते हुए इलेक्ट्रीशियन को हटाने की मांग की है।

सोलर सिस्टम लंबे समय से बंद

जिला अस्पताल में बिजली गुल होने पर लाखों रुपए खर्च कर सोलर सिस्टम लगवाया था जो पिछले दो सालों से बंद है। जिम्मेदारों ने आज तक इसको फिर से चालू करवाने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है।


पछ़ाड़ी खेड़ा रोड स्थित लवकुश मंदिर के पास रहने वाले मुकेश केवल के छोटे भाई हल्के केवल पुत्र नंदू केवल की जिला अस्पताल में टीबी का इलाज चल रहा था। सुबह मरीज की मौत हो गई। भाई की मौत के बाद मुकेश ने वहां मौजूद कर्मचारियों से शव वाहन की जानकारी ली तो कर्मचारियों ने बताया कि शव वाहन नहीं कचरा वाहन आएगा। मृतक के परिजन डर गए और तत्काल हाथ ठेला बुलाकर शव को ठेले पर ले गए।

मरीज की मौत के बाद परिजन ले गए ठेले पर शव

Ashoknagar News - mp news see again our district hospital two pictures of disorder
X
Ashoknagar News - mp news see again our district hospital two pictures of disorder
Ashoknagar News - mp news see again our district hospital two pictures of disorder
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना