विज्ञापन

ब्लॉक में बन रहीं सड़कों का काम अधूरा, जो बनी वे भी घटिया, समय से पहले ही खराब

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 04:05 AM IST

Ashoknagar News - लोगों को वाहन चलाने में हो रही है परेशानी भास्कर संवाददाता | मुंगावली ब्लॉक में बन रही प्रधानमंत्री ग्राम...

Mungawali News - mp news the road work in the block is incomplete those made are also poor prematurely bad
  • comment
लोगों को वाहन चलाने में हो रही है परेशानी

भास्कर संवाददाता | मुंगावली

ब्लॉक में बन रही प्रधानमंत्री ग्राम सड़कों के अधूरे कार्य के कारण लोगों के परेशानी हो रही हैं। क्षेत्र की कई प्रधानमंत्री सड़कें समय अवधि पूरी होने के बाद भी अधूरी पड़ी हैं। ठेकेदार कंपनी ने जो निर्माण कार्य किए हैं उनमें भी घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग करने से सड़कें पूरी तरह से उखड़ गई हैं।

क्षेत्र में टियारा इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, इंदौर ने प्रधानमंत्री सड़कों का पैकेज लिया था। इसके तहत करीब 7 सड़कों का निर्माण होना था। समयावधि निकलने के बाद भी इनमें से किसी भी सड़क का काम पूरा नहीं हुअा है। ठेकेदार ने जिन सड़कों का काम पूरा किया है। वह सड़कें भी एक साल के अंदर ही उखड़ गई है। सड़कों पर गिट्टी उखड़ गई है।

इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र की कई सड़कें उखड़ गई हैं। जो सड़कें बन गई हैं उनके शोल्डर भी नहीं भरे गए हैं। इससे लोगों को यहां से निकलने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक ओर सरकार ग्रामीण क्षेत्रों के रहवासियों को आवागमन की सुविधा लिए प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़कें बनाई जा रही है। केंद्र व राज्य सरकार द्वारा करोड़ों रुपए की राशि इन सड़कों के निर्माण में खर्च की जा रही है। लेकिन इन सड़कों के निर्माण कार्य में ठेकेदारों द्वारा अनियमितताएं बरती जा रही हैं।

निर्धारित मात्रा में नहीं डाली डामर: बीना मार्ग से ग्राम झागर, कुम्हर्रा, मल्हारगढ़ मार्ग से पिपरिया, कुम्हर्रा जसनखेड़ी मार्ग के निर्माण के समय कंपनी ने अनियमितताएं बरती हैं।

इस कारण यह मार्ग एक साल में ही क्षतिग्रस्त हो गए। ग्रामीणों ने बताया कि कंपनी ने सड़क निर्माण के समय गिट्टी में निर्धारित मात्रा में डामर क उपयोग नहीं किया। इस कारण यह सड़क बनने के एक माह बाद ही उखड़ गई। वहीं सड़क निर्माण के समय नियमानुसार अर्थवर्क नहीं करने से सड़क कई जगह बैठक भी ले ली। गिट्टी मिक्स डामर की पहली परत के बाद ऊपर की परत में डामर का सीलकोट किया जाता है।

इसका उद्देश्य सड़क पर स्मूथ यातायात के साथ मजबूती प्रदान करना होता है। इससे सड़क पर पानी भरने की समस्या खत्म हो जाती है। निर्माण कंपनी ने सड़क निर्माण के समय पर्याप्त मात्रा में डामर नहीं डालने से सड़क एक वर्ष में ही उखड़ गई।

X
Mungawali News - mp news the road work in the block is incomplete those made are also poor prematurely bad
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन