• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Ashta
  • होली की गेर निकाली, सांत्वना दी इसके बाद उड़ाया अबीर-गुलाल
--Advertisement--

होली की गेर निकाली, सांत्वना दी इसके बाद उड़ाया अबीर-गुलाल

शुक्रवार को शोक गैर निकलने के बाद शहर में दिन भर रंग भरी मस्ती में डूबा रहा। वहीं कुछ स्थानों पर तिलक होली को महत्व...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:10 AM IST
शुक्रवार को शोक गैर निकलने के बाद शहर में दिन भर रंग भरी मस्ती में डूबा रहा। वहीं कुछ स्थानों पर तिलक होली को महत्व देते हुए सूखी होली खेली तथा पानी बचाने पर जोर दिया गया।

शुक्रवार की अलसुबह तहसील क्षेत्र में होली समितियों द्वारा शुभ मुहूर्त में अनेक स्थानों पर पारंपरिक रूप से होलिका दहन किया गया। महिलाओं ने विधिवत भक्त प्रहलाद की पूजा अर्चना की। हुलियारों द्वारा जमकर अबीर गुलाल उड़ाया गया। धुलेंडी के साथ ही नगर में पांच दिनों तक रंगों की होली शुरू हो गई है। होली दहन के बाद श्रद्घालुओं द्वारा विधिवत पूजा अर्चना कर घरों में विशेष मिठाई पकवान बनाए गए। इस बार होली समितियों ने होली दहन वाले स्थान को विद्युत झालरों व लग्गी से साज सज्जा भी की गई थी।

कई स्थानों पर हुआ होलिका दहन

नगर के विभिन्न प्रमुख चौराहों से लेकर मोहल्लों में होलिका का दहन किया गया। समितियों द्वारा होलिका में लकडिय़ों से अधिक कंडे लगाए गए थे। देर रात तक नव युवक होली के गीतों को डीजे पर बजाकर उनकी धुनों पर थिरकते रहे।

निकली शोक गैर: हर बार की तरह इस बार शोक गैर हिंदू उत्सव समिति के नेतृत्व में मानस भवन से निकाली गई। जो नगर के हर गमी वाले स्थानों पर पहुंच कर परिवार जनों को गुलाल लगाकर सांत्वना दी। इसी प्रकार महिलाओं ने घरों-घर जाकर रंग गुलाल लगाकर गमी वाले परिवार को सांमत्वना दी।

ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं दिखा होली का असर: ग्रामीण क्षेत्रों में इस समय रबी फसल की कटाई जोरशोर से चलने के कारण पिछले वर्षों की तरह इस वर्ष फीकी होली देखी गई।