Hindi News »Madhya Pradesh News »Ashta» समाज में फैली कुरीतियों को त्यागकर शिक्षा पर ध्यान दें : बगाना

समाज में फैली कुरीतियों को त्यागकर शिक्षा पर ध्यान दें : बगाना

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:15 AM IST

संत रविदास जयंती समाज के लोगों ने धूमधाम से मनाई भास्कर संवाददाता | आष्टा बुधवार को जांगड़ा सूर्यवंशी समाज ने...
संत रविदास जयंती समाज के लोगों ने धूमधाम से मनाई

भास्कर संवाददाता | आष्टा

बुधवार को जांगड़ा सूर्यवंशी समाज ने संत शिरोमणि गुरु रविदास जी की 641वीं जयंती मनाई। इस दौरान समाज के लोगों ने गल चौराहा बाबा रामदेव मंदिर पर संत रविदास के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित किया।

इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेश मंत्री कैलाश बगाना ने कहा कि संत रविदास जी के बताए हुए मार्ग जैसे समानता समरसता का जो स्वप्न उन्होंने 600 वर्ष पहले जो देखा था वह सपना आज सकार होते दिख रहा है। इसी मार्ग पर हम सभी समाजजनों को चलकर समाज में फैली कुरीतियों को त्याग कर ज्यादा से ज्यादा शिक्षा के ऊपर ध्यान देकर समाज उत्थान के कार्य में लगे रहना होगा। यहीं सपना संत रविदास जी महाराज का है।

इस अवसर पर समाज के अध्यक्ष कैलाश प्रलाथिया, अजाक्स के संभागीय अध्यक्ष बंशीलाल धनवाल, उपाध्यक्ष अमर सिंह रेकवाल, कोषाध्यक्ष बलवंत सिंह बगाना, सचिव कन्हैयालाल पेरवाल, सरपंच जितेंद्र गोयल, तुलसीराज अटेरिया, रमेश रेकवाल, शंकरलाल बड़ोदिया, गोपालदास राठी, राकेश रेकवाल, राकेश पेंटर, जगदीश रेकवाल, राकेश सूर्यवंशी, प्रेम बड़ोदिया, हेमराज प्रलाथिया, मेहरबान सिंह, धर्मेंद्र रेकवाल, शंकरलाल ठेकेदार, रमेश ठेकेदार, उमराव सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

चल समारोह निकाला : बिलकिसगंज. संत शिरोमणि रविदास जी की जयंती पर रविदास जी के अनुयायियों ने चल समारोह का निकाला। चल समारोह बिलकिसगंज चौराहे से प्रारंभ होकर राम मंदिर पर समाप्त हुआ। चल समारोह का कई स्थानों पर स्वागत किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बिलकिसगंज सरपंच राजेश जांगड़े ने की। इस अवसर पर समाज के सभी वरिष्ठ जन उपस्थित रहे। चल समारोह में कमल कीर, कमलेश दोहरे, सुरेश जांगड़े, पंकज गुप्ता, बृजेश पटेल, मोती सिंह ठाकुर आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

सरस्वती शिशु मंदिर में हुई गोष्ठी : इछावर. संत रविदास की जयंती पर सरस्वती शिशु मंदिर में विचार गोष्ठी हुई। इसमें वक्ताओं ने संत श्री के जीवन पर प्रकाश डाला। इस मौके पर नगर के गणमान्य नागरिकों ने अपने विचार व्यक्त किए। इनमें प्रमुख रूप से स्वदेशी जागरण मंच के जिला सह संयोजक दिनेश सिरोलिया, जनपद अध्यक्ष ओपी वर्मा, बृज किशोर व्यास, मोहन लाल तिवारी, सुरेश चंद्रवंशी, विष्णु गुप्ता, कमलेश राठौर, रमेश राठौर, अजय चौहान, देवराज मडोरिया, बद्री प्रसाद सिसोदिया, सुरेश वर्मा, राजपाल परमार योग प्रचारक ने अपने विचार व्यक्त किए। इस मौके पर मुख्य वक्ता दिनेश सिरोलिया ने बताया कि संत रविदास को संत शिरोमणि की उपाधी प्राप्त थी यह सरल स्वभाव के धनी थे इनका जन्म 1388 में बना रस में हुआ था। वे मूर्तिपूजा एवं तीर्थयात्रा में कम विश्वास रखकर कर्म को प्राथमिकता देते थे।

चल समारोह : कालापीपल. गांव खोकरा कला में रविदास जयंती के अवसर पर समाज के लोगों ने चल समारोह निकाला। इसमें आसपास के गांवों के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। चल समारोह रविदास मंदिर से शुरू हुआ जो गांव में भ्रमण करता हुआ वापस मंदिर पहुंचा। यहां पर समाज के वक्ताओं ने संत रविदास पर के जीवन पर प्रकाश डाला।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ashta News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: समाज में फैली कुरीतियों को त्यागकर शिक्षा पर ध्यान दें : बगाना
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Ashta

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×