Hindi News »Madhya Pradesh »Ashta» भास्कर संवाददाता|आष्टा

भास्कर संवाददाता|आष्टा

भास्कर संवाददाता|आष्टा आज का युवा वर्ग देश की बढ़ती बेरोजगारी से पूर्णता परिचित है। शासकीय व निजी दोनों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 03:15 AM IST

भास्कर संवाददाता|आष्टा

आज का युवा वर्ग देश की बढ़ती बेरोजगारी से पूर्णता परिचित है। शासकीय व निजी दोनों क्षेत्रों में नौकरी के लिए बहुत अधिक कम्पीटिशन है। अधिकतर युवा की सोच एक सुरक्षित नौकरी की होती है। इससे उसे निश्चित वेतन प्राप्त कर जीवन यापन कर सके। इसकी दिशा सही तय नहीं होने सफल नहीं हो पाता है। यहीं से युवा मानसिक अवसाद का शिकार बन जाता है और अपना अमूल्य जीवन समाप्त कर लेता है।

यह बातें स्वामी विवेकानंद मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा शहीद भगत सिंह कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक राजेश दुबे ने विद्यार्थियों को बताई। श्री दुबे ने आगे कहा की इस समस्या से उसे घबराने के आवश्यकता नहीं है। स्वरोजगार का क्षेत्र उसके लिए हमेशा खुला हुआ है। इसमें वह एक सफल उद्यमी बन स्वयं अपने आपको सिद्ध कर सकता है। वहीं अन्य लोगों को रोजगार उपलब्ध करा सकता है।

स्वरोजगार में टैलेंट दिखाने की जरूरत: श्री दुबे ने कहा कि स्वरोजगार में अनेक सुनहरे अवसर हैं आवश्यकता है तो अपने टेलेंट को दिखाने की। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कौशल विकास पर अधिक ध्यान दे रहे हैं। इसके पीछे सिर्फ यहीं उद्देश्य है कि देश का युवा आत्मनिर्भर बन सके। स्वरोजगार में आप स्वयं मालिक होते जबकि नौकरी किसी के अधीनस्थ करना होती है जो एक नियमबद्ध प्रक्रिया है। आपका स्वयं कुछ नहीं होता है।

उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना , मुख्यमंत्री उधमी योजना, मुद्रा ऋण आदि की जानकारी विद्यार्थियों को दी।

भारतीय संस्कृति और उसका महत्व भी बताया

व्यक्तित्व विकास प्रकोष्ठ ने भारतीय संस्कृति व उसके महत्व पर एक कार्यक्रम आयोजित किया। इसमें श्री दुबे व हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष सहायक प्राध्यापक डॉ. आनंद सिंह ने व्यक्तित्व विकास की कार्ययोजना व गौरवशाली भारतीय संस्कृति पर व्याख्यान दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ashta

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×