--Advertisement--

काम करने के दौरान लाइन चालू करने से हुई थी

काम करने के दौरान लाइन चालू करने से हुई थी मौत, आदेश के बाद आरोपियों को जेल भेजा आष्टा |छह साल पहले बागेर सब स्टेशन...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 02:02 AM IST
काम करने के दौरान लाइन चालू करने से हुई थी मौत, आदेश के बाद आरोपियों को जेल भेजा

आष्टा |छह साल पहले बागेर सब स्टेशन पर करंट से लाइनमैन की मौत के मामले में प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सरिता वाधवानी ने बिजली कंपनी के जेई और ऑपरेटर को दोषी पाते हुए 5-5 साल का कारावास तथा 10-10 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया। आदेश के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

अपर लोक अभियोजक कृपाल सिंह ठाकुर के अनुसार मांडली गांव निवासी रमेश पुत्र माखन लाल बागेर बिजली सब स्टेशन पर पदस्थ था। जिसने घटना दिनांक 14 जून 2012 को सब स्टेशन पर पदस्थ जेई नीरज कुमार व ऑपरेटर संतोष कुमार से लाइन सुधारने के लिए सुबह 7 बजे परमिट लिया था। परमिट लेकर लाइनमैन रमेश बापचा वाले फीडर पर लाइन सुधार रहा था। इस दौरान आरोपियों ने बिना सूचना के लापरवाही करते हुए लाइन को चालू कर दिया जिससे लाइनमैन खंभे पर ही चिपक गया तथा करंट से उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी उक्त मामले में आष्टा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था। दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।

न्यायालय ने अभियोजन द्वारा प्रस्तुत साक्ष्य व बहस सुनने के बाद आरोपी तत्कालीन बागेर सब स्टेशन के जूनियर इंजीनियर नीरज कुमार पुत्र प्रताप सिंह निवासी दीवानगंज व ऑपरेटर संतोष कुमार पुत्र बोंदर सिंह निवासी बागेर को दोषी पाते हुए 5-5 साल का कारावास व अर्थदंड से दंडित किया है।