--Advertisement--

सूखी नदी और नालों से किया जा रहा रेत का अवैध उत्खनन

तहसील क्षेत्र में सूखी पड़ी नदी और पठार से रेत ओर मुरम के अवैध उत्खनन का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:00 AM IST
तहसील क्षेत्र में सूखी पड़ी नदी और पठार से रेत ओर मुरम के अवैध उत्खनन का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके बाद भी प्रशासन तथा खनिज विभाग ध्यान नहीं दे रहा है। इससे खनन माफिया बेखोफ होकर नदी नालों को छलनी कर रहे हैं। इससे राजस्व का नुकसान भी जमकर हो रहा है।

शासन ने प्रदेश के साथ ही सभी जिलों में अवैध उत्खनन के कारोबार को रोकने के लिए निर्देश जारी किए थे। इसके बाद प्रशासन के अधिकारियों ने इसकी मुहिम भी चलाई थी। अवैध रूप से रेत मुरम का परिवहन करने वालों के खिलाफ कार्यवाही भी की गई, लेकिन इसके बाद लंबे समय से कार्रवाई नहीं हो सकी हैं। यहीं वजह है कि रेत, मुरम का अवैध खनन व परिवहन करने वाले फिर सक्रिय हो गए हैं। हालत यह है कि ज्यादा से ज्यादा खुदाई के चक्कर में यह दिन के बजाए रात में भी खुदाई करने में जुटे हुए हैं। इससे शासन को हर माह हजारों रुपए के राजस्व की हानि उठाना पड़ रही है। रेत मुरम व पत्थर का अवैध उत्खनन करनमाफिया ने पहाड़ियों को समतल कर दिया है। वहीं नदी, नालों के घाटों को बिगाड़ दिया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..