Hindi News »Madhya Pradesh »Babai» बंद का असर: सुबह कराई दुकानें बंद, दोपहर 12 बजे के बाद खुलीं

बंद का असर: सुबह कराई दुकानें बंद, दोपहर 12 बजे के बाद खुलीं

भास्कर संवाददाता | पिपरिया/सोहागपुर/माखननगर सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट पर दिए गए फैसले के खिलाफ सोमवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 02:10 AM IST

भास्कर संवाददाता | पिपरिया/सोहागपुर/माखननगर

सुप्रीम कोर्ट के एससी-एसटी एक्ट पर दिए गए फैसले के खिलाफ सोमवार को सुबह दलित संगठनों ने रैली निकाली। भारत बंद के तहत दुकान बंद करने का आव्हान किया। मिली जुला असर दिखा। दोपहर 12 बजे के बाद बाजार खुल गया। एससी एसटी वर्ग के विभिन्न संगठनों ने तहसील कार्यालय पहुंचकर प्रशासन को ज्ञापन दिया। भागचंद अहिरवार ने बताया अहिरवार समाज के लोगों ने भी ज्ञापन दिया। सोहागपुर में भारत बंद के आह्वान पर अजाक्स की ओर से सीटू अध्यक्ष सुमित्रा देवी ने व्यापारी संघ से आवेदन देकर सहयोग की अपेक्षा की थी। व्यापारियों ने प्रतिष्ठान खुले रखे। यह आरोप सुमित्रा देवी ने लगाया। उन्होंने कहा व्यापारी संघ अध्यक्ष राजेंद्र पालीवाल को आवेदन देकर बाजार बंद रखने की बात की थी। राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन एसडीएम ब्रजेश सक्सेना को सौंपा। अजाक्स पदािधकारियों में सभा में विचार रखे। बाबई में अजा, जजा वर्ग के संयुक्त संगठन ने सोमवार को नायब तहसीलदार एमएल पवार को ज्ञापन सौंपा। इसमें पूर्व भांति अधिनियम लागू कराने की मांग की। भागीरथ अहिरवार, नारायण धोलपुरिया, द्वारका चौधरी, अशोक परधान और आंखमऊ सरपंच सियालाल यादव आदि शामिल थे। सोमवार को एससीएसटी संगठन ने बाबई बंद का आह्वान किया था। यहां बंद बेअसर रहा। दिनभर दुकानें खुलीं रहीं।

एससी/एसटी एक्ट पूर्व की भांति लागू करने की मांग

बनखेड़ी| अनुसूचित जाति/जनजाति (एससीएसटी) अधिनियम 1989 में संशोधन करने की मांग को लेकर सोमवार को नगर बंद कराया। बंद का असर मिलाजुला रहा। कार्यकर्ताओं ने तहसील कार्यालय में राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन नायाब तहसीलदार संतोष कुमार मंडलोई को सौंपा। एससी/एसटी वर्ग के लोगों ने अधिनियम पूर्वानुसार पुनः लागू करने की मांग की। अमान सिंह, लेखराम अहिरवार, जगदीश प्रसाद, किरण पूर्वी, बालमुकुंद जावरे, देवेंद्र वंशकार, चंद्रभान अहिरवार, राजू टिकेत आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Babai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×