• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Babai News
  • घर का बिजली कनेक्शन काटा, आदिवासी ने बकाया वसूली करने आए लाइनमैन को पीटा
--Advertisement--

घर का बिजली कनेक्शन काटा, आदिवासी ने बकाया वसूली करने आए लाइनमैन को पीटा

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 04:10 AM IST

बगैर सुरक्षा के बकाया वसूली करने गांव में जाते हैं बिजली कर्मी

भास्कर संवाददाता | इटारसी.

मेरे घर की लाइट बंद क्यों है...? यह कहते हुए आदिवासी ने गांव में बकाया वसूली करने आए बिजली कंपनी के लाइनमैन पर हमला कर दिया। बिजली कर्मी छीतापुरा गांव के पास बोरखेड़ा के मालाटेकरा टोला में बिजली बिल बांट रहे थे। उनके पास बिल जमा नहीं करने वाले बकायादारों की लिस्ट भी थी।

बताया जा रहा है कि घटना के बाद लाइनमैन और मीटर रीडर जान बचाकर केसला ब्लाक मुख्यालय आए और जानकारी जेई को दी। बताया गया कि केसला ब्लाक के 90 फीसदी आदिवासी ग्रामीण उपभोक्ता बिजली बिल समय पर नहीं भरते। ऐसे में कई घरों के बिजली कनेक्शन काट दिए गए हैं। इसी कारण लाेग लाइनमैन व मीटर रीडर पर गुस्सा उतार रहे हैं। कई लोगों की शिकायत गलत रीडिंग व ज्यादा राशि का बिल आने की होती है।

इन चार धाराओं में केस दर्ज

पुलिस ने प्रहलाद पिता रंगू धुर्वे पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने, गाली-गलौज, मारपीट व जान से मारने की धमकी देने का अपराध दर्ज किया है।





यह भी जानिए

90 प्रतिशत हैं बकायादार :
वसूली के 1500नोटिस दिए


मीटर रीडर के साथ बिल बांटने गए तब की मारपीट

बिजली कंपनी के लाइनमैन 44 वर्षीय प्रदीप मालवीय ने बयान दिया कि केसला ब्लाक से 33 किमी दूर छीतापुरा गांव क्षेत्र में मीटर रीडर के राहुल चौबे के साथ बिजली के बिल बांटने गए थे। बकाया राशि की वसूली भी करनी थी पर साथ में कोई सुरक्षाकर्मी नहीं था। घटना दोपहर तीन बजे रघुवीर नामक व्यक्ति के घर के आंगन की है। तभी प्रहलाद पिता रंगू धुर्वे आया और बिजली कर्मियों को धमकाने लगा। वह पूछ रहा था मेरे घर की लाइट क्यों बंद है? इसी बात पर आरोपी ने बिजली कंपनी के लाइनमैन के साथ झूमाझटकी की। केसला पुलिस ने मेरे बयान दर्ज किए। सुखतवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल जांच हुई।

बिजली दफ्तर में सुरक्षा गार्ड नहीं


एसडीएम भी मांग चुके पुलिस सुरक्षा

रेत माफिया से परेशान इटारसी एसडीएम आरएस बघेल भी पुलिस सुरक्षा मांग चुके हैं। पांच दिन पहले कथित रेत माफिया की स्कार्पियों ने कट मारा था। पिछले पखवाड़े सिवनी मालवा में हो चुका है जहां बिजली कंपनी के जेई पर हमला किया गया।