• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Babai News
  • बाबई को दो ब्लाॅकों में विभाजित करने पर नहीं बनी सहमति, अगली मीटिंग में हो सकेगा निर्णय
--Advertisement--

बाबई को दो ब्लाॅकों में विभाजित करने पर नहीं बनी सहमति, अगली मीटिंग में हो सकेगा निर्णय

कांग्रेस की ब्लाॅक मंडलम व सेक्टर कमेटियों के गठन को लेकर रविवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसमें सहमति...

Danik Bhaskar | Apr 09, 2018, 03:15 AM IST
कांग्रेस की ब्लाॅक मंडलम व सेक्टर कमेटियों के गठन को लेकर रविवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसमें सहमति नहीं बनने पर पुनर्गठन अगली बैठक तक टल गया।

बाबई विकास खंड को कांग्रेस संगठन विकेंद्रीकरण कर दो ब्लाकों में बांटना चाहता हैं। कांग्रेसियों में मत भिन्नता सामने आई और वरिष्ठ कांग्रेसी बैठक छोड़कर जाने लगे, जिन्हें महामंत्री सविता दीवान व सेवादल उपाध्यक्ष विकल्प डेरिया ने वापस बुलाया। एआईसीसी मेंबर व प्रभारी जितेन्द्र कंसाना ने कहा पार्टी की गाइड लाइन के मुताबिक 80 बूथों पर एक ब्लाॅक का गठन किया जाना है। बाबई ब्लाॅक में 122 बूथ हैं इसलिए 61-61 बूथों के दो ब्लाॅक बनाने चाहिए। इस पर कुछ वरिष्ठ कांग्रेसी सहमत नहीं हुए और एक ही ब्लाॅक रखने की बात कही। वहीं कुछ पदाधिकारी दो ब्लाक गठन पर सहमत थे।

ब्लाॅक अध्यक्ष राजेन्द्र मुराड़या ने विभाजन पर विरोध जताया। वरिष्ठ कांग्रेसी हकीम खान, कुलदीप मिश्रा भी बंटवारे के पक्ष में नहीं दिखे। एआईसीसी सदस्य जितेन्द्र कंसाना, महामंत्री सविता दीवान, सेवादल उपाध्यक्ष विकल्प डेरिया, जिलाध्यक्ष पुष्पराज पटैल, रणवीर पटैल थे। बाबई के 122 बूथों को 2 ब्लाक, 3 मंडलम व 11 सेक्टरों में विभाजित करना प्रस्तावित किया।

माखननगर । बैठक में उपस्थित नेता व कार्यकर्ता।