बदनावर

--Advertisement--

बदनावर के शिक्षकों को 150 किमी दूर दिया प्रशिक्षण केंद्र

निजी स्कूलों के शिक्षकों को एनआईओएस से डीएलएड के लिए 3 फरवरी से 25 मार्च तक दिया जाना है प्रशिक्षण भास्कर...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:00 AM IST
निजी स्कूलों के शिक्षकों को एनआईओएस से डीएलएड के लिए 3 फरवरी से 25 मार्च तक दिया जाना है प्रशिक्षण

भास्कर संवाददाता | बदनावर

एनआईओएस से डीएलएड करने वाले निजी स्कूलों में पदस्थ शिक्षकों को अध्ययन केंद्र 100 से 150 किमी दूर दिए है। जिससे शिक्षकों में रोष है। राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान द्वारा आॅनलाइन प्रविष्टि ली गई थी। जिसमें अध्ययन केंद्र की दूरी अधिक देने से निजी संस्थानों के शिक्षकों के समक्ष विकट परिस्थिति बन गई है। एनआईओएस द्वारा अध्ययन केंद्रों का चुनाव जारी किया है। इसमें 3 फरवरी से 25 मार्च तक डीएलएड करने वाले शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए जाना है। अध्ययन केंद्र बदनावर के शिक्षकों को कुक्षी, सरदारपुर, मनावर, धार दिया गया। जबकि इन दिनों में शैक्षणिक सत्र चल रहा है। ऐसे में संस्थान के शिक्षकों को दूर दराज भेजने में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने का अंदेशा है।

सर्व शिक्षा अभियान के अधिकारियों ने शिक्षकों को अध्ययन केंद्र पर जाने के आदेश जारी किए है। इससे महिला शिक्षकों के इस प्रशिक्षण में शामिल होने पर संशय की स्थिति बन गई है। निजी शैक्षणिक संस्थाओं की मांग है कि अध्ययन केंद्र ब्लाॅक स्तर पर ही करवाया जाए। ब्लाॅक स्तर पर प्रशिक्षण होने पर विद्यालयों का काम भी प्रभावित नहीं होगा। सूरज विद्या विहार स्कूल के प्राचार्य राम श्रीवास्तव का कहना है कि इसी तिथि को यह डीएलएड प्रशिक्षण होता है तो विद्यालय में शिक्षकों की कमी होगी ओर पढ़ाई भी प्रभावित होगी। शिक्षिका रीना वाघेला, दशरथ नायमा, सपना राठौर, रामलाल वाघेेला का कहना है कि हमें अध्ययन केंद्र कुक्षी दिया है। जिसकी दूरी 125 किमी से अधिक है। ऐसे में आवागमन में भारी परेशानी होगी। प्रशिक्षण की तिथि भी काफी लंबी दी। ऐसे में प्रशिक्षण केंद्र पर पहुंचना काफी परेशानी भरा होगा।

बीईओ वीरेंद्रसिंह राठौर का कहना है कि प्रशिक्षण के लिए अन्य ब्लाॅक में जाने संबंधी समस्याएं सामने आ रही है। यहां भी दो प्रशिक्षण केंद्र बनाए गए है। जिनमें डही व अन्य ब्लाॅक के शिक्षकों को आदेशित किया हैं। फिलहाल परीक्षा का समय नजदीक आते देख ब्लाॅक के शिक्षकों का अध्ययन केंद्र ब्लाॅक स्तर पर बनाए जाने पर अभ्यर्थियों को सुविधा रहेगी।

X
Click to listen..