Hindi News »Bihar »Patna» Actor Manoj Vajpayee Share Their Experience

लगातार रिजेक्शन से निराशा में थे मनोज, दोस्त को डर था कहीं सुसाइड न कर लें

भारतीय नृत्य कला मंदिर ऑडिटोरियम में एक्टर मनोज वाजपेयी पहुंचे थे।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 08, 2018, 07:31 AM IST

  • लगातार रिजेक्शन से निराशा में थे मनोज, दोस्त को डर था कहीं सुसाइड न कर लें
    +3और स्लाइड देखें
    भारतीय नृत्य कला मंदिर ऑडिटोरियम में एक्टर मनोज वाजपेयी पहुंचे थे।

    पटना .बुधवार को शहर के भारतीय नृत्य कला मंदिर ऑडिटोरियम में एक्टर मनोज वाजपेयी पहुंचे थे। उनके साथ एक बातचीत का कार्यक्रम शहर में चल रहे थियेटर ओलंपिक्स के तहत किया गया था। इस दौरान उन्होंने अपनी लाइफ से जुड़े एक्सपीरियंस शेयर किए। क्या कहा मनोज वाजपेयी ने...

    - मनोज ने लाइफ एक्सपीरियंस शेयर करते हुए कहा, " फिल्म और टीवी की दुनिया में मेरे लिए चीजे आसान नहीं थी। यहां अपनी पहचान बनाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा तब जाकर सफलता मिली।"

    - मनोज ने बताया, मुझे लंबे दिनों के संघर्ष के बाद एक टीवी सीरियल में काम करने का ब्रेक मिला था। मगर, पहले ही टेक में मुझे रिजेक्ट कर दिया गया था।

    - उसी दिन एक कॉमर्शियल फिल्म में काम करने पहुंच गया। जहां एक छोटे से रोल के लिए सिलेक्शन हुआ था। पहुंचने के बाद पता चला कि यहां मेरी जगह किसी दूसरे को रख लिया गया। थक हार के घर पहुंचा।
    - उन्होंने बताया कि, घर जाकर एक फिल्म डायरेक्टर को फोन मिलाया। जिन्होंने एक फिल्म में काम देने का वादा किया था। उधर से डायरेक्टर ने जवाब दिया कि वह फिल्म प्रस्ताव फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।

    - इस तरह से एक ही दिन में तीन जगह से रिजेक्शन से गहरी निराशा मिली। आगे की कहानी सुनाते हुए उन्होंने कहा कि रात को मेरा दोस्त सौरव शुक्ला मेरे कमरे में सोने आया।

    - उसने कहा कि आज रात तू अपना हाथ मेरे छाती पर रख के सो जाओ। मैंने पूछा क्यों? उसने कहा अरे मुझे डर लगा रहा है कि कहीं तू सुसाइड न कर ले।

    चिट्‌ठी में लिखी सच्ची बात
    - मनोज ने बताया कि एक्टिंग मेरे लिए छात्र जीवन से ही सब कुछ बन गया, जबकि घरवाले चाहते थे कि मैं डॉक्टर बनूं।

    - रंगमंच की दुनिया से जुड़ने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय में नामांकन लेने पहुंच गया। बाद में जब लगा कि घर वालों को सच बताना चाहिए तब लेटर लिखकर सच बताया।


  • लगातार रिजेक्शन से निराशा में थे मनोज, दोस्त को डर था कहीं सुसाइड न कर लें
    +3और स्लाइड देखें
    बातचीत के दौरान उन्होंने अपनी लाइफ से जुड़े एक्सपीरियंस शेयर किए।
  • लगातार रिजेक्शन से निराशा में थे मनोज, दोस्त को डर था कहीं सुसाइड न कर लें
    +3और स्लाइड देखें
    मनोज तिवारी ये कार्यक्रम थियेटर ओलंपिक्स के तहत किया गया था।
  • लगातार रिजेक्शन से निराशा में थे मनोज, दोस्त को डर था कहीं सुसाइड न कर लें
    +3और स्लाइड देखें
    ऑडियंस से रूबरू होते मनोज।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Actor Manoj Vajpayee Share Their Experience
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×