--Advertisement--

शराब ठेकों का विरोध जारी, आगजनी के बाद गर्माया मामला

नए सत्र में देशी व अंग्रेजी शराब की दुकानें रिहायशी इलाकों में खोले जाने के विरोध में सोमवार की शाम देशी शराब...

Danik Bhaskar | Apr 04, 2018, 02:05 AM IST
नए सत्र में देशी व अंग्रेजी शराब की दुकानें रिहायशी इलाकों में खोले जाने के विरोध में सोमवार की शाम देशी शराब दुकान में तोड़फोड़ कर महिलाओं द्वारा आग लगाने के बाद ठेकेदार व उनके कर्मचारी दहशत में हैं और अन्य स्थान की तलाश कर रहे हैं। वहीं अंग्रेजी शराब दुकान नगर पालिका के बाजू में खोले जाने का विरोध भी ज्ञापन के माध्यम से किया गया है। लोगों के विरोध के चलते वहां भी अभी फिलहाल गुप्त रूप से दुकान तैयार करने का काम चल रहा है। यदि दुकान का स्थान परिवर्तित नहीं होता है तो यहां भी उग्र आंदोलन की तैयारी में क्षेत्र के लोग हैं। वहीं नगर पालिका अध्यक्ष नन्हीबाई मलखान सिंह जाट ने भी कलेक्टर को पत्र भेजकर दोनों दुकानों का नगरीय रहवासी क्षेत्र में खोले जाने को गलत बताते हुए लोगों की भावनाओं के अनुरूप नगर से बाहर दोनों दुकानें स्थानांतरित करने के लिए लिखा है। ताकि मंदिर मस्जिद, स्कूल, अस्पताल, व अन्य शासकीय कार्यालयों में आने जाने वालों को किसी तरह की परेशानी न हो। दोनों ही दुकानों के स्थानों पर पुलिस नजर रखे हुए है। किसी तरह की अप्रिय स्थिति न बन पाए इसके लिए प्रशासनिक अधिकारी नायब तहसीलदार थानसिंह लोधी, पटवारी आदि भी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। विरोध कर रहे डाॅ. रवि शर्मा, उपेंद्र पांडे,राजाबाबू सेन,ओंमकार यादव, सरस जैन, लच्छू महाराज इत्यादि का कहना है कि देशी शराब का ठेका महर्षि कान्वेंट हायर सेकंडरी स्कूल, सेंट थामस सीनियर सेकंडरी स्कूल, सरस्वती विद्या मंदिर हायर सेकंडरी स्कूल, एलबीएस कान्वेंट हायर सेकंडरी स्कूल व शिव जी के मंदिर से दस कदम की दूरी पर एवं गणेश मंदिर डिपो कॉलोनी, त्रिवेणीबाई आश्रम के पास खोला जा रहा है। जिससे लोगों की धार्मिक व सामाजिक भावनाएं आहत हो रही हैं। यदि प्रशासन ने उक्त दोनों ठेके नगर से बाहर नहीं किए तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस संबंध में तहसीलदार आरके सिंह का कहना है कि में अभी बाहर हूं आकर मामले का निराकरण कराता हूं यदि विवाद हो रहा है तो स्थान परिवर्तन कराया जाएगा।

शराब ठेकों का विरोध करते लोग।