Hindi News »Madhya Pradesh »Begumganj» छतों पर झूल रहे बिजली के तार से खतरा

छतों पर झूल रहे बिजली के तार से खतरा

घर की छतों पर झूलते बिजली के तार खतरे का सबब बने हुए है। नगर में पिछले कुछ सालों में हुए निर्माण की बजह से यह हालात बन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 26, 2018, 02:15 AM IST

घर की छतों पर झूलते बिजली के तार खतरे का सबब बने हुए है। नगर में पिछले कुछ सालों में हुए निर्माण की बजह से यह हालात बन आए है। बढ़ते खतरे से आगाह करने और बिजली व्यवस्था को दुरुस्त करने विद्युत वितरण कंपनी ने अाज तक लोगों को इस जानलेवा खतरे से आगाह नहीं किया। बिजली तार और मकानों के बीच दूरी कम होने से करंट लगने का खतरा बढ़ता जा रहा है। अनाधिकृत तरीके से किए गए भवन निर्माण पर अब तक विद्युत वितरण कंपनी ने किसी एक को भी नोटिस जारी नहीं किया। जबकि कंपनी को कुछ प्रबुद्ध नागरिकों द्वारा गत वर्ष बाकायदा एक आवेदन देकर इस संबंध में चेताया गया था।

यह है नियम : ओवरहेड लाइन का तार या सर्विस लाइन यदि रोड क्रास करे, तो निम्न व मध्यम वोल्टेज लाइन की ऊंचाई 5.8 मीटर एवं उच्च वोल्टेज लाइन की ऊंचाई 6.1 मीटर रहेगी। ओवरहेड लाइन के साथ साथ चल रही लाइन का तार या सर्विस लाइन की स्थिति में निम्न व मध्यम वोल्टेज लाइन की ऊंचाई 5.5 मीटर व उच्च वोल्टेज लाइन की ऊंचाई 5.8 मीटर रहेगी। भवनों से लंबाई में सुरक्षित दूरी में उच्च वोल्टेज लाइन 33000 वोल्टेज तक 3.7 मीटर प्रत्येक 33000 के अतिरिक्त वोल्टेज पर 0.30 मीटर निर्धारित है। जबकि समानांतर स्थिति में लाइन की दूरी उच्च वोल्टेज 11 हजार वोल्टेज तक 1.2 मीटर एवं उच्च वोल्टेज 11 हजार से अधिक पर 33 हजार तक 2.0 मीटर निर्धारित है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Begumganj

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×