--Advertisement--

दफ्तर में बैठकर बटन दबाते ही कट जाएगा कनेक्शन

समय पर बिजली बिल जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं के घर अब बार बार बिजली कंपनी के कर्मचारी बकाया राशि की सूची लेकर...

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 04:10 AM IST
समय पर बिजली बिल जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं के घर अब बार बार बिजली कंपनी के कर्मचारी बकाया राशि की सूची लेकर नहीं पहुंचेंगे। यदि उपभोक्ता का बिल एक दो दिन से ज्यादा बकाया रहता है तो कंपनी के कर्मचारी आफिस में बैठे बैठे ही बटन दबाकर कनेक्शन काट देंगे।

बिजली कंपनी आरएपीडीआरपी योजना के तहत शहर के मीटरों को जल्द ही ऑनलाइन करने वाली है। अभी तक चुनिंदा व्यवसायिक मीटरों में मॉडम से रीडिंग तो होती थी लेकिन कनेक्शन काटे नहीं जाते थे। कंपनी ने जिले के शहरी क्षेत्रों में इसकी तैयारी शुरू कर दी है। और अगले साल तक यह सुविधा शुरू हो जाएगी।

यह होगी प्रक्रिया : उपभोक्ता का मीटर मॉडम के जरिए ऑन लाइन किया जाएगा। रीडिंग भी दफ्तर के कंट्रोल रूम में रिकार्ड होगी। बिल जमा करने की निर्धारित तिथी निकल जाने के बाद कंट्रोल रूम से बाकायदा उपभोक्ता की सिम मॉडम के जरिए बंद कर दी जाएगी।

खपत पर भी होगी नजर : नए मीटरों से स्टाफ को मीटर की जांच के लिए उपभोक्ताओं के घर नहीं जाना पड़ेगा। डाटा कंट्रोल सेंटर में मीटर में गड़बड़ी होने की जानकारी पहुंच जाएगी।

ऐसे काम करेगा पूरा सिस्टम

इसके लिए मीटरों को सिम व मॉडमयुक्त बनाया जाएगा। मॉडम व सिम के जरिए प्रत्येक 15 मिनिट में रीडिंग होगी जो कंपनी की बेवसाइट पर अपलोड होगी। यह रीडिंग संबंधित कार्यालय के कंट्रोल रूप तक पहुंचेगी। कंपनी के डाटा कंट्रोल सेंटर पर उपभोक्ता की बिजली की खपत पहुंच जाएगी। कंट्रोल रूम में उपभोक्ता के मीटर का पूरा रिकार्ड रहेगा। इसमें बिल जमा करने की तिथी फीड होगी। बकाया होने पर संबंधित उपभोक्ता का खाता इंडिकेशन देगा। इसके बाद बकायादार उपभोक्ता का मीटर मॉडम के जरिए बंद कर दिया जाता है।