Hindi News »Madhya Pradesh »Begumganj» कब्जे की भूमि के पट्‌टे मिलने की सूचना पर श्मशान व कब्रिस्तान में बना लीं झुग्गियां

कब्जे की भूमि के पट्‌टे मिलने की सूचना पर श्मशान व कब्रिस्तान में बना लीं झुग्गियां

साल तक नजूल की भूमि पर झोंपड़ी बनाकर रहने वालाें को प्रशासन उसी भूमि का पट्टा देगा। जिसके सर्वे की जानकारी लगते ही...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 16, 2018, 04:15 AM IST

साल तक नजूल की भूमि पर झोंपड़ी बनाकर रहने वालाें को प्रशासन उसी भूमि का पट्टा देगा। जिसके सर्वे की जानकारी लगते ही लोगों ने श्मशान, कब्रिस्तान की जमीन पर रातों रात कब्जा कर झुग्गियां तान दी हैं। राजस्व अमला इन्हें हटाता है तो कुछ दिन बाद वह फिर से झुग्गियां बना लेते हैं। इस तरह अतिक्रमणकारी प्रशासन के गले की फांस बने हुए हैं।

पट्‌टे के लिए सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों को भू माफियाओं का भी संरक्षण है। वह उक्त जमीन को अपनी बताकर लोगों से पैसे लेकर जमीन पर झुग्गियां बनवा रहे हैं। प्रशासन की परेशानी यह है कि लोग लालच के कारण ऐसे भू माफियाआें के खिलाफ बयान नहीं देते जिसके कारण उनके हौसले बुलंद हैं। प

्रशासन की चेतावनी का भी असर अतिक्रमणकारियों को नहीं है। नगर के खिरिया नारायणदास मोहल्ला, टेकरी के पीछे वाले हिस्से में, श्मशान भूमि, कब्रिस्तान व वक्फ बोर्ड की भूमि पर करीब एक माह पहले कुछ बाहरी लोगों ने रातों रात झुग्गियां बना लीं। जिनके पालतू कुत्तों व मवेशियों के चलते बच्चे स्कूल जाने में परेशान हो रहे हैं। श्मशान की भूमि पर झुग्गियां बनाने व वहां पर मुरम खुदाई कर झुग्गियाें की जमीन ऊंची करने के लिए मुरम का उपयोग करने वालों ने खुदाई की तो वहां पर दफन कई बच्चों की अस्थियां तक बाहर निकल चुकी हैं। जिससे लोगों की भावनाएं आहत हुईं। लोगों ने लिखित आवेदन तहसील, नगर पालिका में दिया, लेकिन उक्त भूमि को अतिक्रमण मुक्त नहीं किया जा सका है। तहसीलदार आरके सिंह ने स्वयं पहुंचकर अतिक्रमणकारियों को दो दिन में झुग्गियां हटाने का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन एक माह बीत जाने पर भी अतिक्रमण ज्यों का त्यों है। पीड़ित लोगों ने कलेक्टर भावना वालिंबे को आवेदन भेजकर शासकीय भूमि, कब्रिस्तान, श्मशान वक्फ भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है। ताकि उनके बच्चे सुरक्षित तरीके से स्कूल जा आ सके और खुदाई पर रोक लगाने की मांग की है।

जमीन ऊंची करने की खुदाई तो दफन बच्चों की निकल आईं थी अस्थियां

अतिक्रमणकारी बने प्रशासन के गले की फांस

पट‌्टे के लालच में शासकीय जमीन पर अवैध अतिक्रमण कर रहे अतिक्रमणकारी।

अतिक्रमण हटवाया जाएगा

कृषि मंडी के पास बेशकीमती जमीन पर बनी झुग्गियाें को हटवा दिया है। टेकरी के पीछे व ऊपर भी अतिक्रमण हटवाया जाएगा। यदि कोई पैसे लेकर प्लाटिंग कर नजूल की जमीन या श्मशान, कब्रिस्तान वक्फ की जमीन को बेच रहा है तो उसकी गवाही दे उसके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। आरके सिंह, तहसीलदार बेगमगंज

इन स्थानों पर अतिक्रमणकारी बार-बार कर लेते हैं अतिक्रमण

श्यामनगर वसुंधरा कालोनी के पास बीच रास्ते पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के बाद अतिक्रमणकारियों ने उक्त स्थान छोड़कर दूसरे स्थान पर शासकीय नजूल पर अतिक्रमण कर लिया है। वहीं हदाईपुर से महुआखेड़ा के लिए जाने वाले रास्ते के निर्माण की स्वीकृति मिलते ही लोगों ने रास्ते के साइड से अतिक्रमण के लिए पत्थर लकड़ियां गाड़कर अतिक्रमण कर लिया है। वहीं सरस्वती विद्या मंदिर विवेकानंद पुरम के सामने नजूल की भूमि पर कई लोग झुग्गियां बनाकर रह रहे हैं। प्रशासन ने कई बार उन्हें बेदखल किया, लेकिन बार-बार लोग वहां अतिक्रमण कर लेते हैं। टेकरी के ऊपर मैदान में भी इसी तरह लोग बार-बार अतिक्रमण करते हैं।

सरकारी जमीन पर पट्टे देने का यह है नियम

सरकारी जमीन पर काबिजदार उन लोगों को जमीन के पट्टे दिए जाना हैं जो 2014 से पहले के काबिजदार हैं। नए काबिजदारों को पट्टे नहीं दिए जाना, लेकिन उसके बावजूद भी लोग पट्टे की लालच में एक मकान होने के बावजूद बहु बेटे के नाम से अतिक्रमण कर लेते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Begumganj

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×