• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • सूखे जल स्रोत, प्यास बुझाने भटक रहे मवेशी व वन्य प्राणी
--Advertisement--

सूखे जल स्रोत, प्यास बुझाने भटक रहे मवेशी व वन्य प्राणी

बेगमगंज| इस वर्ष कम वर्षा के कारण जमीन के अंदर पानी पूरी तरह से नहीं भर पाया। यही कारण है कि जनवरी माह में ही कई नदी...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:15 AM IST
बेगमगंज| इस वर्ष कम वर्षा के कारण जमीन के अंदर पानी पूरी तरह से नहीं भर पाया। यही कारण है कि जनवरी माह में ही कई नदी नाले सूख गए थे। अब स्थिति यह है कि किसानों के मवेशियों को नदी में अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी नसीब नहीं हो रहा है। जंगली जानवर पानी की तलाश में गांवों की तरफ रूख करने लगे है। फिर भी उन्हें अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी नसीब नहीं हो रहा है। क्षेत्र की सेमरी नदी को छोड़कर शेष नदियां नाले पूरी तरह सूख चुकी है। जंगली नालों में पानी कहीं-कहीं बचा है, नदियों में कुछ स्थानों को छोड़कर गड्‌ढों में पानी भरा है जो सड़ चुका है और बदबू देने लगा है ऐसे ही पानी से मवेशी अपनी प्यास बुझा रहे है। पानी की कमी के चलते लोग रतजगा कर अपनी प्यास बुझाने के लिए पानी भर रहे है, या फिर वे मवेशियों के लिए कहां से पानी भरकर ला रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकतर जल स्त्रोत सूख गए है या फिर उनका जल स्तर काफी नीचे पहुंच गया है। एक वक्त था जब लोग कुएं और बावड़ी बनवाते थे तो एक स्थान ऐसा भी निश्चित करते थे जहां पानी भरते समय फिंकने वाला पानी एकत्रित हो जाता था और मवेशी अपनी प्यास बुझाने वहां पहुंच जाते थे।