• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • पर्यावरण संरक्षण :पुरानी किताबों से पढ़ेंगे सरकारी स्कूलों के बच्चे
--Advertisement--

पर्यावरण संरक्षण :पुरानी किताबों से पढ़ेंगे सरकारी स्कूलों के बच्चे

बेगमगंज| कागज बनाने के लिए जंगल के पेड़ों को बचाने के लिए सरकार ने मुख्यमंत्री बुक बैंक योजना शुरू की है। जिसके तहत...

Danik Bhaskar | Mar 22, 2018, 04:15 AM IST
बेगमगंज| कागज बनाने के लिए जंगल के पेड़ों को बचाने के लिए सरकार ने मुख्यमंत्री बुक बैंक योजना शुरू की है। जिसके तहत अप्रैल माह से शुरू हो रहे नए शिक्षा सत्र में सरकारी स्कूलों के बच्चे निजी स्कूलों की तर्ज पर इस साल भी एनसीईआरटी (नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर) की किताबों से पढ़ेंगे। लेकिन ये किताबें नई नहीं पुरानी होंगी।

दरअसल पर्यावरण को होने वाले नुकसान को ध्यान में रखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की सख्ती के बाद इस बार प्रदेशभर की सरकारी स्कूलों में मुख्यमंत्री बुक बैंक योजना शुरू की जा रही है। इसके तहत स्कूलों में अगली कक्षा में प्रवेश कर रहे बच्चों से उनकी किताबों को स्कूल में जमा कराने कहा जा रहा है। ताकि इन किताबों को पिछली कक्षा के बच्चों को दिया जा सके। जो किताबें कम पड़ेगी या जिनके सिलेब्स देवी मंदिरों में उमड़ रहा आस्था का सिलेब बदले जाएंगे वहीं किताबें मप्र पाठ्य पुस्तक निगम द्वारा निःशुल्क उपलब्ध कराई जाएंगी। इस नई व्यवस्था से कक्षा 3 से 12 तक के बच्चे को समय रहते किताबें मिल जाएंगी। बल्कि जंगल भी कटने से बच जाएंगे। सरकारी स्कूलों में पिछले साल से ही एनसीईआरटी का कोर्स शुरू किया गया है।

पुरानी किताबें जमा करने कहा है