--Advertisement--

पढ़ाई के साथ सेहत भी बनाओः न्यायाधीश

बेगमगंज| शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी है। गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है, इसलिए खानपान का विशेष ध्यान रखें। धूप...

Danik Bhaskar | Mar 22, 2018, 04:15 AM IST
बेगमगंज| शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी है। गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है, इसलिए खानपान का विशेष ध्यान रखें। धूप में अधिक देर न घूमें, भोजन करने से पहले और बाद में हाथ जरूर धोएं। गर्मियों में स्नान भी समय पर करें ताकि आपकी सेहत पर विपरीत प्रभाव न पड़े।

उक्त उदगार खुला आश्रय केन्द्र में तहसील विधिक सेवा समिति द्वारा आयोजित शिविर में बच्चों के समक्ष व्यवहार न्यायाधीश आशीष परसाई ने व्यक्त किए। उन्होंने बच्चों को साफ सफाई पर स्वयं भी ध्यान देने और अपने परिजनों को भी इसके लिए प्रेरित करने का आव्हान किया।

जिला अपर सत्र न्यायाधीश एवं तहसील विधिक सेवा समिति अध्यक्ष अरविंद रघुवंशी, द्वितीय अपर जिला सत्र न्यायाधीश बलरामसिंह यादव ने बच्चों को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। सभी बच्चों ने सामूहिक गीत प्रस्तुत कर न्यायाधीशगण का मन मोह लिया। उन्होंने सभी बच्चों को बिस्किट के पैकेट प्रदान कर उनका हौसला बढ़ाया। आश्रय केन्द्र में नए बच्चों के प्रवेश लेने पर उन्हें भी विशेष तौर पर शिविर के उद्देश्यों की जानकारी दी। तीनों न्यायाधीश उपजेल बेगमगंज पहुंचे। यहां पर उन्होंने बंदियों को दिए जाने वाले भोजन की जानकारी लेते हुए पाकशाला का निरीक्षण किया। बंदियों से रूबरू होकर उनसे उनकी समस्याओं को जाना और उन्हें कानून में दिए अधिकारों एवं विधिक सेवा प्राप्त करने की जानकारी विस्तार से दी। बंदियों के स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ के बाद बंदियों को दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवाओं का निरीक्षण किया। उपजेल की व्यवस्थाओं एवं साफ सफाई व्यवस्था को देखकर न्यायाधीश ने जेलर नरेंद्र कटारे की प्रशंसा की।