बेगमगंज

--Advertisement--

सरकारी भवन के ईंटें तक निकाल ले गए लोग

तहसील में कई सरकारी भवन जर्जर अवस्था में पहुंचने के बाद न तो उन्हें गिराया जा रहा है और न ही उनकी किसी प्रकार से...

Dainik Bhaskar

Mar 27, 2018, 05:15 AM IST
सरकारी भवन के ईंटें तक निकाल ले गए लोग
तहसील में कई सरकारी भवन जर्जर अवस्था में पहुंचने के बाद न तो उन्हें गिराया जा रहा है और न ही उनकी किसी प्रकार से देखरेख की जा रही है। विभाग की लापरवाही और दिशा निर्देश नहीं होने के कारण ऐसे सरकारी भवनों के खिड़की दरवाजे, अंग्रेजी कवेलू, लकड़ी, लोहे की जालियां बड़ी ही चतुराई से लोग निकाल निकाल कर ले जा रहे है। यह जानकारी अधिकारियों को भी है, लेकिन उनके द्वारा किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय बेगमगंज के स्कूल मैदान पर बना जिम्नेशियम, ग्राउंड से लगा आदिवासी छात्रावास भवन संबंधित विभाग की लापरवाही और देखरेख के अभाव में जीर्ण-शीर्ण होकर खंडहर में तब्दील हो गया है। इस भवन में पहले कालेज की कुछ कक्षाएं व लायब्रेरी आदि संचालित होती थी और उसमें नवीन शाहपुर स्कूल भी लगाया जाता था । लेकिन रख रखाव के अभाव में यह भवन जर्जर होकर अनुपयोगी हो गया। इस भवन के दरवाजे-खिड़कियां, अंग्रेजी कवेलू और भवन में लगी ईंटें लोहे की जालियां छप्पर की लकड़ी बड़ी सफाई से लाेगों ने निकाल ली गई। जिसमें कुछ तो विभाग के कर्मचारियों के घरों तक पहुंच गई तो बची खुची पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया। इसके सामने ही ब्लाक शिक्षाधिकारी का कार्यालय भी रख रखाव के अभाव में जर्जर हो चुका है,इसके बगल से बने करीब तीन कमरों की सामग्री का भी यही हाल हुआ है जिसमें माध्यमिक विभाग के प्रधान अध्यापक निवास करते थे उसके बाद वह खंडहर हो गया।

लापरवाही

खंडहरों में होते हैं अनैतिक कार्य, विभाग नहीं दे रहा ध्यान, शासन को लाखों की चपत

असामाजिक तत्वों के बने अड‌्डे

ऐसे अधिकांश भवन जो एकांत में है, वे असामाजिक तत्व एकांत का फायदा उठाने से नहीं चूकते। उत्कृष्ट स्कूल के आस पास बने इन खंडहर भवन में असामाजिक तत्व अनैतिक कार्यों को अंजाम दे रहे हैं। प्रशासन मूक दर्शक बना तमाशा देख रहा है और किसी बड़ी घटना घटित होने का इंतजार कर रहा है। यहां पूर्व में भी दो बड़ी घटनाएं घटित हो चुकी हैं। जिसमें एक युवक को आग लगाकर मौत के घाट उतारा गया था। तो दूसरी घटना में कुछ असामाजिक तत्वों एवं एक महिला को रात्रि गश्त में पुलिस ने पकड़ा था, लेकिन राजनीतिक दबाव के कारण मामला दब दिया गया था ।

वरिष्ठ अधिकारियों को करा दिया है अवगत


X
सरकारी भवन के ईंटें तक निकाल ले गए लोग
Click to listen..