• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • सात साल से नहर निर्माण में अधिग्रहीत भूमि के मुआवजे के लिए भटक रहा किसान
--Advertisement--

सात साल से नहर निर्माण में अधिग्रहीत भूमि के मुआवजे के लिए भटक रहा किसान

बेगमगंज| तहसील से लेकर जिला और सीएम हेल्पलाइन तथा मंत्री तक को आवेदन देने के बाद भी वर्ष 2011 से आज तक देहगवां जलाशय की...

Danik Bhaskar | Feb 07, 2018, 06:15 AM IST
बेगमगंज| तहसील से लेकर जिला और सीएम हेल्पलाइन तथा मंत्री तक को आवेदन देने के बाद भी वर्ष 2011 से आज तक देहगवां जलाशय की नहर के लिए अधिग्रहित की गई भूमि का मुआवजा पाने एक किसान भटक रहा है। मंगलवार को जनसुनवाई में किसान उमाकांत तिवारी ने फिर से आवेदन देकर पूर्व में दिए आवेदन संलग्न कर गुहार लगाई है। किसान उमाकांत तिवारी कृषक ग्राम घाना कला ने जनसुनवाई में आवेदन देकर बताया कि पटवारी हल्का नं. 45 ग्राम घाना कला टप्पा सुल्तानगंज की भूमि खसरा क्र.214/2-220 रकबा 1.530 हेक्टेयर में से 0.134/0.58 हेक्टेयर भूमि पटवारी एवं आरआई की सर्वे रिपोर्ट अनुसार देहगवां जलाशय की नहर में सन 2011-12 में अधिग्रहित की गई। परन्तु उसे आज तक मुआवजा की राशि प्रदान नहीं की गई है। पूर्व में संबंधित विभाग, तहसीलदार, कलेक्टर जन सुनवाई एसडीएम जन सुनवाई, सीएम हेल्प लाइन में शिकायत क्र. 3504976 जो कि 1-4 स्तर पर थी जिसकी विधिवत जानकारी व कागजात देने के बाद भी आज तक निराकरण नहीं किया गया है। गत 8 अगस्त 17 को भी जनसुनवाई में आवेदन दिया, सुनवाई नहीं की गई। आवेदक ने आवेदन में शीघ्र मुआवजा प्रदान कराने की गुहार जनसुनवाई में लगाई है। देखना यह है कि किसान को कब तक मुआवजा मिलता है या जनसुनवाई सिर्फ दिखावा साबित होती है।