--Advertisement--

रोजेदारों के इनाम का दिन है ईदः मौलाना अदनान

बेगमगंज|सारी इबादतों का सबाब तय है और खुदा उस सबाब को फरिश्तों से दिलवाएगा लेकिन रोजे का बदला खुदा खुद बंदे को...

Danik Bhaskar | Jun 17, 2018, 02:05 AM IST
बेगमगंज|सारी इबादतों का सबाब तय है और खुदा उस सबाब को फरिश्तों से दिलवाएगा लेकिन रोजे का बदला खुदा खुद बंदे को देगा। जिस इबादत का सबाब खुदा खुद दे और कहे कि रोजेदार का बदला में खुद हूं इससे बड़ी बात क्या हो सकती है। इसीलिए ईद को रोजेदारों के इनाम का दिन कहा गया है।

उक्त उदगार ईदगाह में ईद उल फितर की नमाज से पहले मौलाना अदनाना साबरी ने नमाजियों के समक्ष कही। उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमने रमजान माह में इबादतें की है उसी तरह पूरी जिन्दगी और साल के बाकी माह करने के लिए खुदा से दुआ करें। क्योंकि खुदा ईद के दिन रोजेदारों को इनाम देता है उसकी दुआएं सुनता है। मौलाना के बयान के बाद मौलाना सैयद जैद खां ने संक्षिप्त में प्रकाश डाला और ईद की नमाज का तरीका बताते के बाद ईद की नमाज अदा कराई। बालाई टेकरी वाली मक्का मस्जिद में मौलाना शोएब खां, जामा मस्जिद में हाफिज गय्यूर खां ने नमाज अदा कराई और मुल्क में अमनाे अमान की दुआ के साथ तरक्की की दुआ मांगी। एक-दूसरे के गले मिलकर ईद की मुबारकबाद दी। इस मौके पर लोनिवि ठाकुर रामपाल सिंह, नपाध्यक्ष प्रतिनिधि मलखानसिंह जाट, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष ईदगाह पहुंचे और मुबारकबाद दी।