• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • बीना बांध परियोजना में तहसील के 38 गांवों के किसानों की भूमि की जाएगी अधिग्रहीत
--Advertisement--

बीना बांध परियोजना में तहसील के 38 गांवों के किसानों की भूमि की जाएगी अधिग्रहीत

बीना बांध बहुउद्देशीय परियोजना को लेकर अब अटकलों और अफवाहों का दौर समाप्त हो चुका है। एक ओर जहां मढ़िया बांध के जल...

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 02:05 AM IST
बीना बांध बहुउद्देशीय परियोजना को लेकर अब अटकलों और अफवाहों का दौर समाप्त हो चुका है। एक ओर जहां मढ़िया बांध के जल संसाधन विभाग द्वारा टेंडर जारी कर दिए गए हैं। वहीं सागर जिले के 13 गांवों की भूमि अधिग्रहीत करने के लिए गजट नोटीफिकेशन हो गया है। शीघ्र ही तहसील बेगमगंज के 38 व गैरतगंज के 3 गांवों की भूमि के अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू करने की तैयारियां जल संसाधन विभाग द्वारा की जा रही हैं।

इधर तहसील के डूब प्रभावित किसान पशोपेश में हैं कि अभी तक जल संसाधन विभाग या राजस्व विभाग ने किसी तरह की जानकारी किसानाें को उपलब्ध नहीं कराई है कि उनकी कितनी जमीन डूब में जा रही है और उन्हें किस हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा, जबकि डूब प्रभावित क्षेत्र में जल संसाधन विभाग ने पत्थर के चीरे गाड़कर हद मुकर्रर कर दी है कि बांध का पानी वहां तक रहेेगा।

सागर तहसील के ग्राम महूना गुर्जर यहां के प्रभावित 197 खातेदारों की 265.370 हे. भूमि डूब में है। इसी तरह ग्राम पेखलोन प्रभावित 31 किसानों का 8.440 हे. ग्राम ढेकरी प्रभावित किसान 14 के कुल रकबा 5.075 हे., ग्राम कोलुआ प्रभावित किसान 10 का कुल रकबा 6.360 हे. ग्राम मरदेवरा प्रभावित किसान 53 कुल रकबा में से 41510 हे., ग्राम सागोनी उमरिया प्रभावित किसान 198 कुल रकबा े 299.320 हे., गाजीखेड़ा प्रभावित खातेदार 5 का कुल रकबा 10.530 हे., चंदनहारी प्रभावित खातेदार 111 का कुल रकबा 178.040 हे. हिनोतिया कला कुल रकबा 3.640 हे. प्रभावित किसान 49 का कुल रकबा 32.640 हे. भभूका बारी प्रभावित किसान 80 का प्रभावित रकबा 85.460 हे. नंदनवारा प्रभावित किसान 64 प्रभावित रकबा 49.040 हे. हुरा कुटगया प्रभावित किसान 84 का डूब प्रभावित रकबा 99.40 हेक्टेयर डूब क्षेत्र में आ रहा है उक्त किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई है।

बेगमगंज तहसील के प्रभावित गांव

ककरूआ ब. गढ़ी, चांदामऊ, खिरिया पाराशर, झिरिया, खजुरिया ब. गढ़ी, बर्री कला, सोठिया, खेजरा, बेलई, सुमेर, बेरखेड़ी ब.गढ़ी,माला, चंदोरिया, मढ़िया हसन खां, सुनेहरा, कोलुआ, देवलापुर, मढ़िया निवारी, बेरखेड़ी, रेहटवास, मढ़िया सेतु, विनायकपुर, ढिमरोली, पचीपुरा, पलोहा, ढाड़िया, परसोरा, बेगमगंज, मानपुर, भुरेरू, कसवा चैका, कोकलपुर, बर्री खुर्द, छोला, सलैया, इत्यादि।

गैरतगंज तहसील के प्रभावित गांव

आलमपुर, हरदौट और मुरपार शामिल है। जिनकी डूब प्रभावित भूमि को अधिग्रहित करने की कार्रवाई चल रही है। डूब प्रभावित 41 ग्राम जो कि रायसेन जिले के हैं उनकी कितनी भूमि डूब में आ रही है उसके बारे में अभी तक उन्हें कोई जानकारी नहीं दिए जाने पर गत दो दिन पहले उन्होंने संजीव मुणोत के नेतृत्व में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई से अवगत कराने की मांग भी की थी।

दावे-आपत्ति के बाद भूमि होगी अधिग्रहीत