• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • मुख्य बाजार में अतिक्रमण से संकरी हुईं गलियां, सड़कों पर खड़े रहते हैं वाहन
--Advertisement--

मुख्य बाजार में अतिक्रमण से संकरी हुईं गलियां, सड़कों पर खड़े रहते हैं वाहन

तहसील मुख्यालय पर मुख्य गांधी बाजार क्षेत्र अतिक्रमण की चपेट में है। व्यापारी दुकानों के बाहर सामग्री रख देते...

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 02:05 AM IST
तहसील मुख्यालय पर मुख्य गांधी बाजार क्षेत्र अतिक्रमण की चपेट में है। व्यापारी दुकानों के बाहर सामग्री रख देते हैं, जिससे रास्ते संकरे हो गए हैं। लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है। वहीं प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। तहसील मुख्यालय पर अतिक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसमें सबसे ज्यादा खराब स्थिति गांधी बाजार क्षेत्र और महाराणा प्रताप मार्ग की है।

अतिक्रमण की चपेट में आने से बाजार के रास्ते व गलियां इतनी संकरी हो गई हैं लोगों को पैदल निकलने में भी परेशानी हो रही है। सड़क के दोनों ओर सामग्री रखी होने से सड़क गली में तब्दील हो गई। जहां भी थोड़ी चौड़ी सड़कें हैं वहां ठेले वालों ने कब्जा कर रखा है। ठेले वालों के ठेले जहां-तहां खड़े रहते हैं। कई बार अधिकारी चेतावनी दे चुके हैं, लेकिन अतिक्रमण मुहिम ठंडा होते ही अतिक्रमण कारी जहां मर्जी आए अतिक्रमण कर दुकानदारी करते नजर आते हैं। बाजार की ट्रैफिक व्यवस्था बेपटरी है, लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। व्यापारियों का कहना है बाजार में लगातार चोरी की वारदातें भी हुई हैं, लेकिन अब तक कोई गिरफ्त नहीं आया है। इससे भी व्यापारी दहशत में है। तहसील मुख्यालय पर मुख्य रूप से गांधी बाजार शिवालय चौक, गर्ल्स स्कूल रोड, बस स्टैंड, पुराना बस स्टैंड सहित सब्जी बाजार सहित नगर के अन्य क्षेत्रों में अतिक्रमण पसरा हुआ है। इस कारण व्यापारियों और लोगों को परेशानी हो रही है। कई बार ग्रामीणों ने तहसीलदार व एसडीएम से भी शिकायत की है, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई।

पार्किंग नहीं, पैदल चलना भी हो रहा मुश्किल : तहसील मुख्यालय होने के बाद भी क्षेत्र में वाहनों की पार्किंग की उचित व्यवस्था नहीं है। लोग बाजार में सड़क किनारे मनमर्जी से कहीं भी वाहन खड़े कर देते हैं। बाइक चालक बीच सड़क में बाइक छोड़कर चले जाते हैं। इससे भी ट्रैफिक व्यवस्था प्रभावित हो रही है। शाम होते ही वाहनों से मुश्किलें और बढ़ जाती हैं। बाजार क्षेत्र में तो पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है, तो वाहनों के निकलने की बात तो दूर है। इस संबंध में थाना प्रभारी रूपेश दुबे का कहना है कि व्यापारियों को समझाइश दी जाएगी हीं मानने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

सड़कों पर अतिक्रमण के कारण लगता है जाम।