--Advertisement--

तराबीह का दौर पूरा, अब 2-3 रोजे शेष

पवित्र रमजान माह अब अंतिम दौर में पहुंच गया है। मरकज और मस्जिद बिलाल में 27 रोजा तरावीह का दौर पूरा हुआ। अमूमन सभी...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 02:10 AM IST
पवित्र रमजान माह अब अंतिम दौर में पहुंच गया है। मरकज और मस्जिद बिलाल में 27 रोजा तरावीह का दौर पूरा हुआ। अमूमन सभी मस्जिदों में तराबीह के दौर पूरे हो चुके हैं। सभी मस्जिदों में अलमतरा से तरावीह पढ़ाई जा रही है। अंजुमन मसजिद मंगलवार को लोगों ने 27 वां रोजा रखा अब दो या तीन रोजे ही शेष बचे हैं।

ताक रातें होने और इन रातों में शबे कद्र होने से लोग पूरी रात जागकर इबादतें कर रहे है। मौलाना शामिद खां नदवी ने बताया कि जिस शख्स को शबे कद्र में इबादत करने का मौका मिल गया उसे एक हजार माह से अधिक की इबादत का सबाब मिलता है। किराना व्यापारी हाजी नफीस नवाब ने बताया ईद के आते ही काजू, किशमिश, बादाम, छुआरा, व अचार की चिरोंजी एवं सिमइयों सहित किराना सामान की बिक्री में भी इजाफा होने लगा है।

बढ़ी रौनक : ईद करीब आते ही खरीद-फरोख्त में तेजी आ चुकी है। सोमवार को भी दुकानों पर महिलाओं की भीड़ रही। सर्वाधिक भीड़ रेडीमेड कपड़े, कुर्ता, शूज, सौंदर्य प्रसाधन, सजावटी सामान, ज्वेलरी और खाद्य सामग्री की दुकानों पर दिखाई दे रही है। टेलर्स भी रात भर दुकानें खोल कर कपड़े तैयार कर रहे हैं। रमजान में सेहरी और इफ्तारी के सामान समेत ईद के लिए की जाने वाली खरीद फरोख्त में अचानक तेजी आई आ गई हैं।

शेरवानी व कुर्ता पहली पसंद

पिछले दो-तीन सालों में त्योहारों पर शेरवानी पहनने का चलन बढ़ा है। टीवी धारावाहिक के कलाकारों द्वारा स्टाइलिश शेरवानी पहनी जा रही हैं। इस कारण लोग अब उसी तरह की शेरवानी की डिमांड करने लगे हैं। इसके अलावा नई डिजाइन के कुर्ते पायजामे भी युवा पसंद कर रहे हैं। वहीं कढ़ाई वाली डिजाइनदार टोपियां भी खूब बिक रहीं हैं।