--Advertisement--

बीना बांध परियोजना नदी जोड़ों कार्यक्रम में शामिल

बीना बांध परियोजना को नदी जोड़ों कार्यक्रम में शामिल किया गया है। विभाग ने जो नक्शा मढ़िया बांध का जारी किया है...

Danik Bhaskar | Jun 04, 2018, 02:15 AM IST
बीना बांध परियोजना को नदी जोड़ों कार्यक्रम में शामिल किया गया है। विभाग ने जो नक्शा मढ़िया बांध का जारी किया है उसमें नीली लाइन के अंदर पानी हमेशा रहना है। लाल घेरे में बेगमगंज है। उक्त नक्शे के एतबार से पश्चिम दिशा में बीना नदी का पानी नगर की सीमा से कुछ दूर तक रहेगा तो पूर्व दिशा की नदियों से भी पानी नगर से अधिक दूर रहेगा। नक्शे से स्पष्ट हो रहा है कि बेगमगंज पानी से घिर रहा है। लेकिन डूब नहीं रहा है। बारिश में क्या स्थित बनेगी नक्शे से अंदाजा लगाया जा सकता है।

कॉलोनाइजरों में छायी मायूसी : नगर में विभिन्न स्थानों पर कॉलोनाइजर काॅलोनी काटकर किस्तों में प्लाट उपलब्ध करा रहे हैं लेकिन बीना बांध की खबरों ने लोगों को घबरा दिया है। जिससे प्लाटिंग के काम पर असर पड़ रहा है। इस संबंध में सचिन इंद्रवाल कार्यपालन यंत्री बीना प्रोजेक्ट राहतगढ़ का कहना है कि उक्त नक्शा ले आउट का है। शीघ्र ही डूब क्षेत्र को चिन्हित करने के लिए पत्थर गाड़कर सीमा बंदी की जाना है। उससे किसानों को स्पष्ट हो जाएगा कि कितनी भूमि डूब में आ रही है और डेम का पानी कहां तक रहेगा।

समस्या

बेगमगंज तहसील की 3250 हेक्टेयर भूमि होगी प्रभावित, तीन गांव पूरी तरह डूबेंगे

बीना बांध में मढ़िया बांध का नक्शा जिसमें बताया गया कि नीली लाइन के अंदर रहेगा पानी।

खबर सुनते ही लोगों

ने रोक दिए काम

बीना बांध की खबरेें और कार्रवाई से किसान चिंतित नजर आने लगे हैं। लोग अपने मकानों का काम बीच में ही छोड़कर स्थिति समझ रहे हैं। कई लोगों ने अपने भवनों के निर्माण कार्य पूरी तरह बंद कर दिए हैं। ले आउट नक्शे के आधार पर मढ़िया बांध में बेगमगंज व राहतगढ़ तहसील की वन भूमि का एरिया 130.98 हेक्टेयर, कृषि भूमि 6326.345 हेक्टेयर, राजस्व भूमि 680.455 कुल 7137.78 हेक्टेयर भूमि डूब में आएगी।