--Advertisement--

34 गांवों के किसान मिलकर करेंगे आंदोलन

बीना बांध संयुक्त सिंचाई परियोजना में बनने वाले मढ़िया बांध को लेकर शासन द्वारा 22 जून को गजट नोटिफिकेशन जारी कर...

Dainik Bhaskar

Jun 25, 2018, 02:15 AM IST
34 गांवों के किसान मिलकर करेंगे आंदोलन
बीना बांध संयुक्त सिंचाई परियोजना में बनने वाले मढ़िया बांध को लेकर शासन द्वारा 22 जून को गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है, जिसमें बेगमगंज के चार गांवों में डूब में आ रही भूमि को अधिग्रहित करने की बात कही गई है। ऐसी स्थिति में इन गांवों के ग्रामीण संगठित होकर आंदाेलन की रणनीति बना रहे हैं। रविवार को सुमेर गांव में तुलसीराम सोलंकी और कृष्ण कुमार पटेल के नेतृत्व में एक बैठक का आयोजन हुआ, जिसमें आंदोलन की रणनीति बनाने के लिए विचार विमर्श किया गया। साथ ही डूब प्रभावित 34 गांवों के किसानों को भी साथ जोड़ने का फैसला लिया गया।

डूब प्रभावित ग्रामीणों का आरोप है कि जब चार दिन पहले ज्ञापन दिया गया था। तब राजस्व अधिकारियों ने अनभिज्ञता प्रदर्शित करते हुए किसी भी तरह की कार्रवाई की पूर्व सूचना देने का आश्वासन दिया था, लेकिन दो दिन बाद ही 22 जून को चार गांव छोला, झिरिया बड़ी गढ़ी, बेरखेड़ी बड़ी गढ़ी, ककरूआ बड़ी गढ़ी के किसानों की भूमि भू अर्जन अधिनियम 2013 की धारा 11 की उपधारा (1) के उपबंधों के अनुसार अधिग्रहित किए जाने की सूचना राजपत्र में प्रकाशित कर दी। बैठक में विशेष प्रताप सिंह जाट, संजीव ओसवाल,जाहर सिंह, नरसिंह, मदन सिंह, पंचम सिंह,नारायण सिंह, निरंजन सिंह, दिलीप सिंह, गोविंद सिंह, संतोष कुमार, अनिरुद्धसिंह लोधी,बड़े पटेल सहित अन्य किसान व ग्रामीण शामिल हुए।

सूची को लेकर असमंजस में हैं ग्रामीण : जल संसाधन विभाग सागर ने डूब प्रभावित परिवारों की सूची भी जारी की है, जिसके तहत पूरी तरह से डूब में आने वाले रायसेन जिले के तीन गांव ककरूआ में 73 परिवार, खिरिया पाराशर में 22 परिवार एवं चादामऊ मे 149 परिवारों को प्रभावित बताया गया है। सूची में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि मकान डूब में है या परिवार प्रभावित होंगे। सूची में दिया गया है कि हाऊस इफेक्टेड जिससे भी किसानों की नींद उड़ गई है। आंशिक प्रभावित ग्रामों में झिरिया 93 खजुरिया में 83,बर्री कला 56,सोठिया 28,खेजरा 23,मरदेवरा 76,परासरी कला92 एवं बेलई 43 हाऊस इफेक्टेड बताए गए है जिससे भी ग्रामीण आशंकित है कि सूची अंग्रेजी में दी गई है और अधिकारी वर्ग उन्हें कुछ सही जानकारी नहीं दे रहे है।

बीना बांध को लेकर रणनीति बनाते ग्रामीण

रणनीति बनाने जुटेंगे 38 गांव के लोग, करेंगे आंदोलन

सुमेर गांव में पहली बैठक आयोजित कर आगे की रणनीति के लिए प्रभावित सभी 38गांवों के ग्रामीणों को बुलाने का निर्णय लिया गया। इस बैठक में मुआवजा राशि व जमीन का वर्तमान कलेक्टर रेट निर्धारित कराने,चार गुना मुआवजा देने,प्रभावित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने, जिन गांवों की कृषि भूमि डूब रही है उस गांव को भी डूब प्रभावित घोषित करने एवं अन्य मुद्दों के निराकरण के लिए हाईकोर्ट की शरण में जाने पर चर्चा की जाएगी।

X
34 गांवों के किसान मिलकर करेंगे आंदोलन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..