• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • अनियमितताओं के विरोध में किसानों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन देकर आंदोलन की चेतावनी दी
--Advertisement--

अनियमितताओं के विरोध में किसानों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन देकर आंदोलन की चेतावनी दी

शासकीय समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी केन्द्र एलएसएस में हो रही अनियमितताओं को लेकर ब्लाक कांग्रेस कमेटी ने खरीदी...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 02:15 AM IST
शासकीय समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी केन्द्र एलएसएस में हो रही अनियमितताओं को लेकर ब्लाक कांग्रेस कमेटी ने खरीदी केंद्र पर मौजूद किसानों के साथ हो रही पक्षपातपूर्ण नीति व तोल में गड़बड़ी एवं अन्य बातों को लेकर जमकर नारेबाजी करते हुए कलेक्टर के नाम का ज्ञापन तहसीलदार आरके सिंह को सौंपकर 8 सूत्रीय मांगे पांच दिन में पूरी न करने पर जन आंदोलन की चेतावनी दी।

ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष राजेश यादव ने ज्ञापन का वाचन करते हुए आरोप लगाए है कि खरीदी केंद्र पर गेहूं का एसएमएस जिस तारीख का दिया गया है। उस तारीख में ही किसान के गेहूं की तुलाई कराई जाए किसान 3-4 दिन तक अपना माल लिए खरीदी केंद्र पर डेरा डाले रहता है उसके बाद केंद्र प्रभारी किसानों से अभद्रता करते हैं और परेशान कर उसका गेहूं तोल रहे हैं। ज्ञापन में बताया गया है कि बड़े किसानों की 400 से 700 क्विंटल गेहूं की तुलाई एसएमएस कर पहले तुलाई की जा रही है। छोटे किसान अपनी उपज लिए परेशान हो रहे हैं। एसएमएस पहले बड़े किसानों को किए गए बाद में छोटे किसानों को जिनके रिकार्ड का अवलोकन कर सच्चाई का पता लगाया जा सकता है। एसएमएस पद्धति में पारदर्शिता लाई जाए। सूची एसएमएस दिनांक से दो दिन पहले चस्पा की जाए ताकि भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सके।

ज्ञापन में मांग की गई है कि किसानों को नंबर आने के बाद भी हम्माली की अतिरिक्त राशि देना पड़ रही है, उसे बंद कराया जाए,प्रति बोरी 50 किलो तौल पर 900 से 950 ग्राम की जो तुलाई की जा रही है उससे किसान का अतिरिक्त गेहूं जा रहा है तोल सही कराकर सूचना पटल पर निर्धारित वजन तुलाई की सूची लगाई जाए, भ्रष्टाचार में लिप्त रहे कर्मचारी को केंद्र से हटाया जाए या ऐसे कर्मचारी जिन पर भ्रष्टाचार का मामला विचाराधीन है उसे तत्काल केंद्र से हटाया जाए। तुलाई अतिरिक्त कर्मचारी और अधिकारियों की निगरानी में कराई जाए जिससे समय पर तुलाई हो सके और किसान लुटने से बच सके।चना मसूर सरसों के समर्थन मूल्य की लेट खरीदी की जा रही है उसमें गुणवत्ता का बहना बनाकर उपज वापस की जा रही है एवं कुछ व्यापारियों द्वारा या अन्य द्वारा फर्जी रजिस्ट्रेशन करा लिए गए हैं उन पर जांच कर कार्रवाई की जाए। जिससे किसान का माल आसानी से तुल सके। किसानों के अनाज का भुगतान एक सप्ताह के अंदर किया जाने जैसी मांगे शामिल हैं। ज्ञापन में चेतावनी दी गई है कि यदि उक्त अव्यवस्थाओं में पांच दिवस में सुधार किया जाए अन्यथा जन आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। ज्ञापन सौंपने वालों में ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष राजेश यादव, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह तोमर, अजय जैन, विजय पहलवान, हनीफ मुंशी, नवलकिशोर यादव, सगीर अली,जफर शाह, शानू मंसूरी शामिल थे।