• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Begumganj
  • प्रभावितों को 60 लाख प्रति हेक्टेयर, 5 एकड़ जमीन व मकान के 5.80 लाख रु. दिए जाएं
विज्ञापन

प्रभावितों को 60 लाख प्रति हेक्टेयर, 5 एकड़ जमीन व मकान के 5.80 लाख रु. दिए जाएं

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:15 AM IST

Begumganj News - पूर्व विधायक डॉ. सुनीलम ने बीना बांध परियोजना में डूब प्रभावित एवं आंशिक प्रभावित गांवों का दौरा किया और किसानों...

प्रभावितों को 60 लाख प्रति हेक्टेयर, 5 एकड़ जमीन व मकान के 5.80 लाख रु. दिए जाएं
  • comment
पूर्व विधायक डॉ. सुनीलम ने बीना बांध परियोजना में डूब प्रभावित एवं आंशिक प्रभावित गांवों का दौरा किया और किसानों से मिले। उन्होंने बीना संयुक्त सिंचाई एवं बहुउद्देशीय परियोजना में संबंधित किसानों को पूरी जानकारी प्रभावित ग्रामवासियों को नहीं दिए जाने को अलोकतांत्रिक एवं अवैधानिक बताते हुए कहा कि जल संसाधन विभाग द्वारा जिन गांवों को डूब प्रभावित बताया गया है, उनमें ग्राम सभाएं आयोजित कर परियोजना संबंधी पूरी जानकारी अब तक उपलब्ध नहीं कराई गई है। बेगमगंज में अब तक यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि कुल कितने परिवार डूब से प्रभावित होने वाले हैं। इसके चलते पूरे शहर में असुरक्षा का वातावरण बना हुआ है।

पंचायती राज की बात करने वाली सरकार ने ग्राम सभाओं से सहमति लेना तो दूर उन्हें जानकारी देने तक की आवश्यकता नहीं समझी है। सरकार का मकसद केवल परियोजना से लाभान्वित होने वाले गांव में विधानसभा चुनाव के दौरान वोट बटोरना है। डॉ.सुनीलम ने कहा कि आमजन को भ्रमित करने के लिए डूब क्षेत्र में लोक निर्माण मंत्री मंत्री रामपाल सिंह राजपूत ने डूब प्रभावित ग्राम खजुरिया में करोड़ों रुपए की लागत से बनने वाली सड़क का भूमिपूजन किया। उन्होंने कहा कि किसानों को किस दर से मुआवजा दिया जाएगा, यह नहीं बताया है। डूब प्रभावितों को पेड़, बोर, पाइप लाइन तथा मकान का कितना मुआवजा दिया जाएगा, यह भी नहीं बताया है। उन्होंने कहा कि नर्मदा घटी में डूब प्रभावित किसानों को 60 लाख रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर मुआवजा दिया गया तथा मकानों के लिए 5 लाख 80 हजार रुपए की राशि प्रदान की गई। कुम्हारों को आधा एकड़ जमीन, कृषि मजदूरों को रोजगार शुरू करने के लिए 39 हजार रुपए, 5400 वर्ग फीट का भूखंड, पेड़ और कुआं के लिए 70 हजार रुपए दिए गए हैं । 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को अलग से भूखंड दिया गया है। नर्मदा घटी के विस्थापितों को दिए गए सभी प्रावधान बीना परियोजना प्रभावितों को भी मिलना चाहिए।

डॉ. सुनीलम ने किसानों को आश्वस्त किया कि यदि आप संगठित रहे तो उक्त सभी लाभ आपको भी मिलेंगे। डाॅ. सुनीलम ने खजुरिया, ककरुआ, झिरिया, चांदमऊ, खिरिया पाराशर, सागर जिले के गावरी एवं पाराशरी का भी दौरा किया, जहां की भूमि अधिग्रहित करने की कार्रवाई जल संसाधन विभाग द्वारा की गई है। डॉ. सुनीलम के साथ सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष एवं पार्षद मुन्ना अली दाना, जनपद सदस्य निर्भय सिंह, एलबुनिस एक्का सहित अन्य लोग साथ थे।

X
प्रभावितों को 60 लाख प्रति हेक्टेयर, 5 एकड़ जमीन व मकान के 5.80 लाख रु. दिए जाएं
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन