बेगमगंज

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • किसानों को नहीं, बीना रिफाइनरी को पानी देने बनाई जा रही बीना परियोजना: डॉ. सुनीलम
--Advertisement--

किसानों को नहीं, बीना रिफाइनरी को पानी देने बनाई जा रही बीना परियोजना: डॉ. सुनीलम

बीना परियोजना प्रभावित किसानों की महापंचायत ग्राम खेजरामाफ़ी में आयोजित की गई। जिसमें 16 जुलाई को राज्यपाल एवं...

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 02:15 AM IST
किसानों को नहीं, बीना रिफाइनरी को पानी देने बनाई जा रही बीना परियोजना: डॉ. सुनीलम
बीना परियोजना प्रभावित किसानों की महापंचायत ग्राम खेजरामाफ़ी में आयोजित की गई। जिसमें 16 जुलाई को राज्यपाल एवं जलसंसाधन मंत्री को ज्ञापन देने और प्रेस वार्ता करने का निर्णय लिया गया है।

महापंचायत को संबोधित करते हुए किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय के राष्ट्रीय संयोजक पूर्व विधायक डॉ. सुनीलम ने कहा कि बीना परियोजना का मकसद किसानों को सिंचाई का पानी देना नहीं बल्कि बीना रीफाइनरी को पानी उपलब्ध कराना है। जिस तरह सरदार सरोवर बांध का पानी कंपनियों को दिया जा रहा है। वैसा ही बीना परियोजना में होने वाला है। मुख्यमंत्री द्वारा 2 जुलाई को परियोजना का भूमिपूजन करने को चुनावी कर्मकांड बताते हुए डॉ सुनीलम ने कहा की गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह द्वारा 2 जुलाई को खुरई वासियों के लिए दिवाली का दिन बताया जाना घोर अनैतिक एवं आपत्तिजनक है। क्योंकि बीना परियोजना से 62 गांव उजड़ने वाले हैं तथा 50 हजार ग्रामीणों को उजाड़ कर उनका भविष्य बर्बाद करने को दिवाली नहीं कहा जा सकता।

डॉ. सुनीलम ने कहा की किसी भी प्रदेश के गृह मंत्री को सर्वाधिक न्यायप्रिय होना चाहिए, लेकिन भूपेंद्र सिंह चुनाव जीतने के लिए घोर अन्याय करने पर आमादा हैं।

डॉ सुनीलम ने कहा की सिंचाई विभाग की आपत्ति होने के बावजूद मतदाताओं को गुमराह करने के उद्देश्य से लोकनिर्माण मंत्री ने 14 अप्रेल को 14 करोड़ की सड़कों और 7 करोड़ के पुल का भूमिपूजन करते हुए कहा की यदि परियोजना बनने वाली होती तो शासन क्यों इन परियोजनाओं को मंजूरी देता। डॉ सुनीलम ने सरकार से विस्थापितों के संपूर्ण पुनर्वास की योजना की विस्तृत जानकारी के साथ साथ भूमि अधिग्रहण संबंधी विस्तृत विवरण को लेकर श्वेत पत्र जारी करने की सरकार से मांग करते हुए कहा कि उसमें यह भी स्पष्ट किया जाए की बीना रिफाइनरी को बीना परियोजना से कितना पानी प्रतिदिन दिया जाएगा।

बीना बांध परियोजना के खिलाफ प्रदर्शन करते क्षेत्र के किसान।

ग्राम सभाओं में ज्ञापन देंगे किसान, संगठित रहने का लिया संकल्प

महापंचायत में बीना परियोजना के लिए किसी भी कीमत पर अपनी जमीन नहीं देने के लिए सभी गांव के किसानों के हस्ताक्षर सहित ज्ञापन एवं ग्राम सभाओं के प्रस्ताव लेकर परियोजना अधिकारी,जिलाधीश, विधायक, सांसद एवं प्रभारी मंत्री को देने तथा संगठित रहने का संकल्प लिया गया। महापंचायत में 21 गांवों के डूब प्रभावित सैकड़ों किसान शामिल हुए। कल रायसेन जिले के प्रभावितों की महापंचायत ग्राम सुमेर में होगी। जिसे डॉ. सुनीलम संबोधित करेंगे।

X
किसानों को नहीं, बीना रिफाइनरी को पानी देने बनाई जा रही बीना परियोजना: डॉ. सुनीलम
Click to listen..