• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • 10 साल बाद भी शहर में नहीं बन सके पार्किंग जोन बाजार व बैंकों के सामने ट्रैफिक व्यवस्था बदहाल
--Advertisement--

10 साल बाद भी शहर में नहीं बन सके पार्किंग जोन बाजार व बैंकों के सामने ट्रैफिक व्यवस्था बदहाल

शहर की पार्किंग व्यवस्था को अमल में लाने में 10 साल भी कम पड़ गए। अफसरों के ट्रांसफर होते ही शहर विकास के प्रस्ताव भी...

Danik Bhaskar | Apr 07, 2018, 03:10 AM IST
शहर की पार्किंग व्यवस्था को अमल में लाने में 10 साल भी कम पड़ गए। अफसरों के ट्रांसफर होते ही शहर विकास के प्रस्ताव भी फाइलों में ही कैद होकर रह जाते हैं। शहर की बेतरतीब पार्किंग को व्यवस्थित करने के लिए करीब 10 साल पहले तत्कालीन एसडीएम बीपी सिटोके ने शहर के 6 स्थान पार्किंग जोन के लिए चिन्हित किए थे। उनके रिटायर होने के बाद वे स्थान मूर्त रूप नहीं ले सके। हालांकि नगर पालिका के तत्कालीन अध्यक्ष शिखरचंद जैन ने उसका प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा था। और शहरी विकास अभिकरण द्वारा जो योजना बनाकर तैयार किया था उसमें भी हाकर्स जोन को शामिल किया था, लेकिन आज तक उक्त शहरी विकास की उक्त योजना मंजूर नहीं हो सकी।

मनमानी पार्किंग से लोग विशेषकर युवतियां व महिलाओं एवं विद्यार्थियों को बेहद परेशानी होती है। सड़क किनारे ठेले लगाने वालां व दुकानदारों के बीच आए दिन झगड़े होते हैं। शहर के मुख्य गांधी बाजार में कुएं के पास ही पार्किग के लिए जगह है। लेकिन त्योहार व सीजन के समय जगह कम पड़ जाती है। वहीं मुख्य सागर भोपाल मार्ग पर पार्किंग के लिए कोई स्थान निश्चित नहीं होने से लोग हर कहीं अपने वाहन खड़ा कर खरीदी करते रहते है। जबकि लोहा मील के पास, अजंता टॉकीज के साइड से, ब्लाक परिसर, दशहरा मैदान में पार्किग की जा सकती है। लेकिन यहां चार छः पहिया वाहन चालक तो वाहन खड़ा तो करते हैं पर दो पहिया वाहन चालक या अपनी उपज मंडी के अलावा व्यापारियों को विक्रय करने वाले सड़क किनारे वाहन खड़ा कर परेशानी पैदा करते हैं। यातायात पुलिस के मौजूद रहने के बावजूद लोग उन्हें चलता करने का प्रयास करती हैं लेकिन उसके बावजूद उनकी आंख बचाकर लोग अपने वाहन यहां वहां खड़े कर गायब हो जाते हैं। शहर के मुख्य मार्ग पर स्टेट बैंक, कोआपरेटिव बैंक, सेंट्रल बैंक, आईएसआई बैंक, है किसी भी बैंक के पास पार्किंग के लिए स्थान नहीं है। यही हाल क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की सांयकालीन शाखा का है जो गर्ल्स स्कूल से लगकर है वहां भी पार्किग की व्यवस्था नहीं होने से परेशानी होती है। थाना प्रभारी नरेंद्र भार्गव का कहना है कि बस स्टैंड व पुराना स्टैंड पर व्यवस्था को बनाने के लिए यातायात पुलिस के साथ ही अन्य पुलिस जवानों की ड्यूटी लगाई जाती है। सड़क किनारे वाहन खड़े करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

पार्किंग व्यवस्था न होने से सड़क किनारे खड़े होते हैं सैकड़ों वाहन।

यहां प्रस्तावित थे पार्किंग जोन

दशहरा मैदान, बस स्टैंड, पुराना स्टैंड, बीएम बीड़ी ब्रांच, गांधी बाजार, महाराणा प्रताप मार्ग पर पार्किंग जोन प्रस्तावित थे। इस संबंध में एसडीएम डीके सिंह का कहना है कि पार्किंग जोन के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की जाएगी। पूर्व के प्रस्ताव की फायल कहां पर रुकी है इसके बारे में जानकारी ली जाएगी।