--Advertisement--

सड़े हुए उपज की बदबू से परेशानी किसानांे ने तौल की बंद

कृषि उपज मंडी परिसर में समर्थन मूल्य पर खरीदी गए चना और मसूर के भीगने के बाद वह यहां पर सड़ने लगा है, जिसकी बदबू के...

Danik Bhaskar | Jul 08, 2018, 03:15 AM IST
कृषि उपज मंडी परिसर में समर्थन मूल्य पर खरीदी गए चना और मसूर के भीगने के बाद वह यहां पर सड़ने लगा है, जिसकी बदबू के कारण व्यापारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति में शनिवार को तुलाई बंद कर दी, जिससे किसान आक्रोशित हो गए और उनके द्वारा हाईवे पर जाम लगा दिया गया। मुख्य सागर-भोपाल मार्ग पर जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह तोमर की अगुआई में किसान बीच सड़क पर बैठ गए, जिससे सड़क के दोनों ओर वाहनों की लम्बी-लम्बी कतारें लग गई। सूचना पर नवागत टीआई राजेश तिवारी, नायब तहसीलदार थान सिंह लोधी दल बल के साथ पहुंचे। किसानों से चर्चा की गई। व्यापरियों व मंडी सचिव को बुलाकर स्थिति जानी। व्यापार संघ अध्यक्ष संजय ओसवाल ने बताया कि मंडी परिसर में समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र के प्रभारियों ने सड़ा अनाज डाल रखा है, जिसकी बदबू से बीमारियां फैल सकती है। जब तक मंडी से सड़ा अनाज नहीं उठाया जाता, तब तक व्यापारियों द्वारा तुलाई नहीं की जाएगी। आंदोलन में प्रमुख रूप से जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह तोमर, हनीफ मुंशी, गोविंद साहू, अजब सिंह,,विजय पहलवान, बाबूलाल पंथी, शानू मंसूरी, गोविंद राजपूत सहित अन्य किसान शामिल थे।

मौके पर पहुंचे अधिकारी : आधे घंटे तक व्यापारियों का जाम चला। उसके बाद अधिकारियों ने मंडी सचिव एपीएस बिलोदिया व आंदोलनकारियों व व्यापारियों के साथ उन स्थानों का निरीक्षण किया। जहां पर सड़ा हुआ अनाज चना मसूर बदबू मार रहा था। उन्होंने तत्काल मंडी सचिव को निर्देश दिए कि खरीदी केंद्र प्रभारियों को निर्देशित कर तत्काल यहां पर सफाई कराएं। सड़ा हुआ अनाज यहां से अलग करवाएं इस पर व्यापारियों ने किसानों की उपज की नीलामी फिर से शुरू कर दी ।