Hindi News »Madhya Pradesh »Begumganj» सीटें आरक्षित रखने संबंधी नियमाें का पालन नहीं कर रहे हैं बस संचालक

सीटें आरक्षित रखने संबंधी नियमाें का पालन नहीं कर रहे हैं बस संचालक

सागर भोपाल मार्ग पर चलने वाली यात्री बसों में परिवहन विभाग के नियमों की खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रहीं हैं। जहां...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 23, 2018, 03:20 AM IST

सीटें आरक्षित रखने संबंधी नियमाें का पालन नहीं कर रहे हैं बस संचालक
सागर भोपाल मार्ग पर चलने वाली यात्री बसों में परिवहन विभाग के नियमों की खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रहीं हैं। जहां बसों में महिला एवं विकलांग यात्रियों के बैठने के लिए सीटें आरक्षित रखने की शर्त पूरी न करते हुए यात्री बसें बेखौफ दौड़ रहीं हैं। वहीं यात्री बसों में किराया सूची एवं फस्टएड बाक्स भी नदारद हैं। बस व ट्रकों के आगे पीछे व साइडों से रेडियम पट्टी का भी अभाव है। नियम का उल्लंघन करने वालों पर मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 86 के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है।

परिवहन विभाग द्वारा कुछ बसों ट्रकों की जांच कर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई तो की जाती है, लेकिन मामूली जुर्माना लगाने के बाद छोड़ दिया जाता है। इसलिए एक्ट का पालन पूरी तरह नहीं हो पा रहा है। सागर भोपाल, दमोह,जबलपुर, छतरपुर, रीवा, राजनांदगांव, नरसिंहपुर, इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, गंज बासौदा, विदिशा, बैरसिया जैसे मार्गो पर करीब 200बसें संचालित हो रहे हैं, लेकिन किसी भी बस में अंदर बाहर दूरी के हिसाब किराया सूची नहीं लगाई गई है किसी भी बस में एक भी सीट महिला एवं विकलांग यात्री के लिए आरक्षित नहीं है। रेडियम पट्टियों का अभाव है।

उल्लंघन पर कार्रवाई का प्रावधान: जबकि नियम की अनदेखी करने वाली बसो के संचालकों पर मोटरयान अधिनियम की धारा 86 के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान है, लेकिन विकलांग एवं महिला यात्री शिकायत नहीं करती। इसे कारण बसों पर कार्रवाई नहीं हो पाती। महिलाएं बस कंडक्टर से कहकर आरक्षित सीटों पर बैठने के लिए बाध्य कर सकती हैं। सीट खाली नहीं कराने पर इसकी शिकायत आरटीओ या पुलिस को कर सकती हैं।

बसों में नहीं हो रहा नियमों का पालन, रेडियम पट्टी का अभाव।

क्या है नियम

मोटरयान अधिनियम के तहत बस में आगे 6 सीट महिलाओं एवं एक सीट विकलांग के लिए आरक्षित रखने का प्रावधान वह भी गेट के ठीक सामने वाली सीटों का है। यह नियम बसों को जारी परमिट की कंडिका 6-7 में स्पष्ट रूप से दर्शाया गया है। जिसमें किराया सूची गेट के अंदर व बाहर गेट के साइड से लगाना जरूरी है साथ ही बस के अंदर इमरजेंसी हेतु फस्टएड बाक्स जिसमें आवश्यक दवाएं रखना एवं इमरजेंसी गेट एवं दो गेट यात्रियों के चढ़ने उतरने के लिए लगाना आवश्यक है। साथ ही बस के आगे पीछे व साइडों से रेडियम पट्टी लगाना अनिवार्य है।

इनका कहना है

इस संबंध में हमारे पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है आप बता रहे है तो जांच करवाएं लेते हैं। यदि नियमों का पालन नहीं हो रहा है तो पालन करवाया जाएगा। नियमों का उल्लंघन पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। विगत दो सप्ताह पहले दो बसों पर बेगमगंज में ही कार्रवाई की गई है जो बिना परमिट के संचालित हो रही थी। रीतेश तिवारी, परिवहन अधिकारी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Begumganj

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×