--Advertisement--

1 से 10 जून तक किसान नहीं बेचेंगे दूध-सब्जी

भारतीय किसान यूनियन आंदोलन की राह पर है। यूनियन के बैनर तले किसान 1 से 10 जून के बीच उपज एवं दूध की आपूर्ति शहर में बंद...

Danik Bhaskar | Apr 29, 2018, 04:10 AM IST
भारतीय किसान यूनियन आंदोलन की राह पर है। यूनियन के बैनर तले किसान 1 से 10 जून के बीच उपज एवं दूध की आपूर्ति शहर में बंद करेंगे। विगत दिनों गड़कोटा जाते समय बेगमगंज में रुके पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने बताया था कि 148 किसान संगठन देशभर में हड़ताल करेंगे। उसी को लेकर क्षेत्र के किसान नेता भी सक्रिय हो गए हैं और 1 से 10 जून तक मंडियों में उपज की आवक रोकने के लिए किसानों से संपर्क शुरू हो गया है।

गांव का कोई भी किसान उपज लेकर शहर में नहीं आएगा। किसान दूध, फल, सब्जी शहरों में नहीं देंगे और न ही किसान शहर से सामान खरीदेंगे। किसान संकट में है। फिर भी सरकारें कर्ज वसूल रही हैं। कहीं फसलों ने दम तोड़ दिया तो कहीं उपज के उचित दाम नहीं मिल रहे। कर्ज माफी हो, किसानों की उपज के वास्तविक लाभकारी मूल्य उपलब्ध कराने वाली स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट तत्काल लागू की जाए। इन्हीं मांगों को लेकर किसान संगठन हड़ताल करेंगे। इसके लिए किसान संगठनों से मिलकर योजना बनाई है।

शहर में दूध, सब्जी और अनाज नहीं आने के कारण लोगों की समस्या बढ़ जाएंगी। मंडियों में अनाज की आवक रुक जाएगी। किसान संगठनों द्वारा देशभर में हड़ताल की जा रही है। यूनियन की हड़ताल अनिश्चित कालीन रहेगी। किसान नेता सौरभ शर्मा ने बताया कि गांव बंदी के दौरान गांवों में जागरूकता यात्रा निकालने की तैयारी है।