बेगमगंज

--Advertisement--

संविधान विरोधी ताकतों के पक्ष में नहीं डालेंगे वोट

बेगमगंज| चिड़ार समाज संगठन के 35 वें स्थापना दिवस पर आयोजित किए गए दो दिवसीय प्रांतीय चिड़ार समाज सम्मेलन में कई...

Danik Bhaskar

Jun 06, 2018, 05:10 AM IST
बेगमगंज| चिड़ार समाज संगठन के 35 वें स्थापना दिवस पर आयोजित किए गए दो दिवसीय प्रांतीय चिड़ार समाज सम्मेलन में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। तथा अविवाहित युवक युवतियों ने मंच के माध्यम से अपना परिचय दिया। इस अवसर पर सम्मेलन की पत्रिका चिड़ार संवाद का विमोचन किया गया। समाज ने तुलाराम अठ्या को पुनः निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना।

नगर के जलाश गार्डन में आयोजित हुए सम्मेलन के प्रथम दिवस अभा चिड़ार सम्मेलन हुआ। जिसमें समाज के राष्ट्रीय, प्रांतीय संगठन पदाधिकारियों एवं जिला अध्यक्ष शामिल हुए। सम्मेलन में सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक प्रस्तावों पर खुली चर्चा की गई। सर्व सम्मति पारित प्रस्ताव में समाज ने आरक्षण का समर्थन करते हुए प्रमोशन में आरक्षण की मांग को दोहराया तथा आरक्षण के पक्ष में संगठित रूप से खड़े रहने का फैसला लेते हुए आरक्षण तथा संविधान विरोधी ताकतों के पक्ष में आगामी चुनाव में वोट नहीं करने का फैसला किया। राजनैतिक रूप से समाज को पर्याप्त प्रतिनिधित्व न देकर सिर्फ वोट बैंक के रूप में उपयोग किए जाने किये पर गहरा असंतोष जाहिर किया और एकजुट रहने का संकल्प दुहराया। सामाजिक गणना का कार्य करने, प्रथा को समाप्त करने, मृत्युभोज पर रोक लगाने, शिक्षा के प्रसार पर जोर देने के साथ ही समाज को नशामुक्त बनाने हेतु संकल्प पारित किया गया।

सम्मेलन में समाज के नव निर्वाचित राष्ट्रीय संगठन पदाधिकारियों को प्रांतीय अध्यक्ष पुरुषोत्तमलाल अठया द्वारा शपथ दिलाई गई। नवनिर्वाचित राष्ट्रीय पदाधिकारियों में नगर के वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता तुलाराम अठ्या दूसरी वार निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए।

सम्मेलन के द्वितीय दिवस अविवाहित युवक युवती परिचय सम्मेलन हेतु 78 युवक एवं 85 युवतियों के रजिस्ट्रेशन हुए। जिन्होंने मंच पर पहुंच कर अपना परिचय दिया। इस अवसर पर सम्मेलन की पत्रिका चिड़ार संवाद का विमोचन नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि मलखानसिंह जाट पार्षद मुन्ना दाना की उपस्थिति में किया गया। जिला चिड़ार समाज द्वारा नगरपालिका अध्यक्ष मलखानसिंह जाट, पूर्व विधायक देवेद्र पटेल, पार्षद मुन्ना दाना का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया गया। समाज के वरिष्ठ कवि रामचरन चिड़ार ग्वालियर, केशरीसिंह इंदौर, कोमलसिंह विदिशा, रमेश गोहिया सीहोर , गुलशन आठ्या बंडा, हरचरण वर्मा छतरपुर को चिड़ार साहित्य श्री सम्मान से सम्मानित किया गया ।

चढ़ार समाज के दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया गया।

Click to listen..