• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Begumganj
  • कार्यक्रम... मंगलवार से मस्जिदों में एतकाफ पर बैठे मुस्लिम समुदाय के लोग
--Advertisement--

कार्यक्रम... मंगलवार से मस्जिदों में एतकाफ पर बैठे मुस्लिम समुदाय के लोग

बेगमगंज| रमजान माह के आखरी अशरे में एतकाफ किया जाता है। जिसमें मस्जिदों के अंदर लोग मस्जिद के एक कोने में पर्दा...

Danik Bhaskar | Jun 06, 2018, 05:10 AM IST
बेगमगंज| रमजान माह के आखरी अशरे में एतकाफ किया जाता है। जिसमें मस्जिदों के अंदर लोग मस्जिद के एक कोने में पर्दा डालकर बैठते हैं और मालिक की इबादत करते हैं। यह दस दिन का होता है। ईद का चांद नजर आने के बाद ही एतकाफ में बैठा सख्श अपने घर जा पाता है। अन्यथा उसे मस्जिद में 24 घंटे रहकर रोजा, नमाज, कुरआन पाक का पाठ, तस्वीह व नफली नमाजें पढ़कर दुआएं मांगना उसका काम होता है। शहर की 16 मस्जिदों सहित ग्रामीण क्षेत्र की मस्जिदों में मंगलवार की शाम मगरिब की नमाज के बाद से एतकाफ में लोग बैठ गए। पूरे जिले की मस्जिदों में भी यही तरतीब रही। जिला काजी सैयद जहीरउद्दीन खां ने बताया कि एतकाफ का मतलब है ठहरना अर्थात अपने सारे कारोबार छोड़कर खुदा को राजी करने की गरज से मस्जिद में रहकर इबादत करना, कुरआन का पाठ करना आदि, जिसने रमजान माह के आखरी दस दिन का एतकाफ कर लिया उसको दो हज और दो उमरा तीर्थयात्रा, का सवाब मिलता है एतकाफ के दौरान व्यक्ति अपने निजी कार्य नहीं कर सकता वह जरूरी कार्य नहाना धोना खाना पीना आदि के लिए ही मस्जिद से बाहर निकल सकता है।