• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Begumganj
  • सिविल अस्पताल की भूमि पर लोगों ने अवैध रूप से करा लीं रजिस्ट्रियां
--Advertisement--

सिविल अस्पताल की भूमि पर लोगों ने अवैध रूप से करा लीं रजिस्ट्रियां

नगर के सिविल अस्पताल की भूमि षड्यंत्र पूर्वक विक्रय करने का मामला प्रकाश में आया है। करोड़ों रुपए की अस्पताल की...

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 06:20 AM IST
सिविल अस्पताल की भूमि पर लोगों ने अवैध रूप से करा लीं रजिस्ट्रियां
नगर के सिविल अस्पताल की भूमि षड्यंत्र पूर्वक विक्रय करने का मामला प्रकाश में आया है। करोड़ों रुपए की अस्पताल की भूमि को अपने नंबर में कराकर कई लोगों को प्लाट बेच दिए गए हैं। अस्पताल को जमीन दान देने वाले समाज सेवी के परिवार की तीसरी पीढ़ी के एक युवक ने यह प्लाट बेचे हैं। वहीं अस्पताल प्रबंधन अपनी जमीन को बचाने के लिए बाउंड्रीवाल बनाने की तैयारी कर रहा है।

नगर के स्थानीय बस स्टैंड से गांधी बाजार को जाने वाले महाराणा प्रताप रोड जो वर्तमान में न्यू मार्केट के रूप में विकसित होने से यहां की भूमि बेशकीमती हो गई है। वर्षों पहले नगर के स्व सेठ मथुरा प्रसाद जैन द्वारा कुछ भूमि शासन को अस्पताल बनाने के लिए दान दी थी। सेठ करोड़पति होने से उस भूमि का निर्धारित मुआवजा भी लेने नहीं गए। क्योंकि भूमि की कीमत उस समय नगण्य सी थी। उनके स्वर्गवास हो जाने के बाद अब उनकी द्वितीय एवं तृतीय पीढ़ी के चतुर पुत्र ने कुछ मित्र पटवारियों से सलाह कर कस्बा पटवारी व राजस्व निरीक्षक से मिलकर सिविल अस्पताल की भूमि के सीमांकन के आदेश कराकर अपनी निजी भूमि का सीमांकन कराए बिना हास्पिटल की भूमि अपनी निजी खसरा 695 की निकलवा ली। अस्पष्ट सीमांकन प्रतिवेदन के पालन में वरिष्ठ राजस्व अधिकारी द्वारा तत्काल अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर भू माफिया को कब्जा देने का आदेश भी आनन फानन में कर दिया।

पूर्व में वहां बन रही थी मार्केट : रोगी कल्याण समिति द्वारा अस्पताल के चारो ओर दुकानों का निर्माण कराया गया, जिसमें सामने मुख्य सागर भोपाल मार्ग पर दुकानें बन गई, लेकिन पीछे की तरफ जो मार्ग गांधी बाजार को जाता है, वहां फाउंडेशन के पिलर भी भरे पड़े है। लेकिन किसी कारण से काम बंद हो गया। लोहा चोर उक्त लोहे के सरिए चुरा ले गए। अब वहां अपनी जमीन निकाल कर पक्का निर्माण कर रहे है।

प्लाट विक्रय कर रजिस्ट्री कराई : करोड़ों की सिविल अस्पताल की इस भूमि को अपनी निजी भूमि बताकर प्लाट विक्रय किए जा रहे है। लगभग एक करोड़ से अधिक राशि के प्लाट विक्रय भी करने की जानकारी सामने आई है।

जागरूक नागरिक हुए सक्रिय : नगर के कुछ जागरूक नागरिकों द्वारा जनहित को देखते हुए इस भूमि की अवैध कार्यवाही का विरोध करते हुए तहसीलदार बेगमगंज को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें तहसीलदार ने इस भूमि पर निर्माण और कब्जा करने वालों पर रोक लगाने की मांग की गई है। इसी बीच कुछ नागरिक कलेक्टर भावना वालिंबे से इस विषय पर शिकायत करने पहुंचे। जनहित व शासन हित में काम न करने पर कुछ अधिकारियों की कार्यशैली पर नाराजगी जताते हुए फटकार लगाई। तहसीलदार राजेश सिंह को शीघ्र उचित कार्यवाही के निर्देश भी दिए।

इसी बीच नगर के सैकड़ों व्यक्तियों ने सामूहिक रूप से विधायक एवं मंत्री रामपाल सिंह राजपूत के नगर आगमन पर ज्ञापन सौंपा।

X
सिविल अस्पताल की भूमि पर लोगों ने अवैध रूप से करा लीं रजिस्ट्रियां
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..